अणुव्रत अनुशास्ता आचार्य श्री महाश्रमण जी को”दिव्य ज्योति” स्वाध्याय पुस्तक उपह्नीत

आर.के.जैन,एडिटर इन चीफ

Key line times

www.keylinetimes.com

Youtube.. keyline times

7011663763,9582055254

अणुव्रत अनुशास्ता परम श्रद्धेय आचार्य श्री महाश्रमण जी के करकमलो में” दिव्य ज्योति “उपह्रित
बैगंलुरु-4-7-2029
अणुव्रत अनुशास्ता आचार्य श्री महाश्रमण जी के करकमलो में सरदार शहर -नेपाल के श्रद्धानिष्ट श्रावक स्व.जतनलाल जी बोथरा के जीवन संस्मरण पर आधारित -“दिव्य ज्योति” स्वाध्याय पुस्तिका डॉ.धनपत डॉ कुसुम लुनिया (जवाई -बेटी तथा संपादिका ) द्वारा सेंटमेरी स्कूल टी-दासरअल्ली बैगंलोर में उपह्रित की गई।साध्वी प्रमुखा श्री कनकप्रभा जी ने भी “दिव्य ज्योति”स्वाध्याय पुस्तिका का अवलोकन करते हुए उपयोगिता के रेखाकिंत किया। जैन श्वे.तेरापंथी सभा टी-दासरअल्लीके अध्यक्ष बंसतीलाल बाबेल,मुख्य अतिथी एमएलए मंजुनाथ को तंथा प्रीसीपल मिसेज मेरी को स्कूल लाईब्रेरी के उपयोग हेतु भी “दिव्यज्योति “भेंट की गई।विशेष ज्ञातव्य रहे कि स्.उपासक जी ने ई.स.1970 के आसपास नेपाल बिहार समेत पूर्वेोतर भारत में जैन तेरापंथ धर्म तथा अणुव्रत आन्दोलन प्रसार में अहम योगदान दिया-परमपूज्य आचार्य प्रवर ने 2010 सरदारशहर में श्रद्धानिष्ठ संबोधन प्रदान किया था।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *