गाजियाबाद में कार छोड़कर लापता हुई भाकियू नेता की बेटी को इंदिरापुरम पुलिस ने बेंगलुरु से किया बरामद

दिल्ली से लापता हुई भाकियू नेता की बेटी कोमल को इंदिरापुरम पुलिस ने बंगलूरू रेलवे स्टेशन से बरामद कर लिया है। कोमल ने पुलिस को देखते ही ट्रेन में कंबल से अपना मुंह छिपा लिया था।


पुलिस का कहना है कि वह पति और ससुराल पक्ष के लोगों से परेशान होकर यहां से गई थी। वह कहीं दूर जाकर नई शुरुआत करना चाहती थी। मुंबई से कोयंबटूर के लिए ट्रेन में बैठी थी। सर्विलांस की मदद से पुलिस कोमल तक पहुंची।

वह पुराना नंबर बंद कर नया नंबर चला रही थी। पुलिस की टीम मंगलवार देर शाम कोमल को गाजियाबाद लेकर पहुंची। हालांकि पुलिस पूछताछ के बाद अन्य जानकारी की बात कह रही है।

दिल्ली निवासी कोमल और उनके पति अभिषेक एमबीए हैं। दोनों की अप्रैल 2018 में शादी हुई थी। बंगलूरू में कोमल ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह पति अभिषेक के काम न करने से परेशान थी। कोमल नौकरी कर रही है जबकि अभिषेक कोई काम नहीं करता। जिसकी वजह से दोनों में अनबन चल रही थी।

साथ ही आरोप है कि ससुराल पक्ष से भी उसे कोई सहयोग नहीं मिल रहा था। वह यहां से कही दूर जाकर जिंदगी की नई शुरुआत करना चाहती थी। इसी के चलते शुक्रवार को कोमल ने सुसाइड नोट तैयार किया, जिसमें ससुरालियों पर दहेज उत्पीड़न का आरोप लगाकर जान देने की बात लिखी।

वसुंधरा की एक दुकान से सुसाइड नोट की फोटो कॉपी कराई। फोटोकॉपी को कार की सीट पर छोड़ा और कार हिंडन नहर रोड पर खड़ी कर वहां से चली गई।

ऐसे तय किया पूरा सफर
पूछताछ में यह बात सामने आई है कि कोमल ने हिंडन बैराज पर कार छोड़ने के बाद आनंद विहार बस अड्डे के लिए ऑटो लिया। वहां से जयपुर के लिए बस पकड़ी। जयपुर पहुंचकर कोमल ट्रेवल एजेंट के माध्यम से मुंबई के लिए फ्लाइट की टिकट बुक कराई और फ्लाइट पकड़ी।

मुंबई पहुंचकर कोमल ने तमिलनाडु के कोयंबटूर जाने वाली कोयंबटूर एक्सप्रेस के सेकेंड एसी का टिकट लिया। चौकी इंचार्ज वैशाली अंजनी सिंह ने टीम के साथ ट्रेस कर सेकेंड एसी में पहुंचे तो कोमल ने कंबल से मुंह छिपा लिया था।

इसके बाद परिजन बंगलूरू पहुंचे और कोमल को बंगलूरू स्टेशन पर पकड़ा। इस दौरान पुलिस से कोमल ने सबसे पहले पति के जेल जाने की बात पूछी।

मोबाइल में चलाया दूसरा नंबर, पुलिस को मिला सुराग
सूत्रों का दावा है कि कोमल ने अपने मोबाइल से पुराना सिम निकालकर फेंक दिया और मोबाइल अपने पास रख लिया था। इसलिए कोमल का मोबाइल कार में बरामद नहीं हुआ। जांच के दौरान पुलिस ने जब कोमल के मोबाइल के आईएमईआई नंबर की जांच की तो उसमें दूसरा नंबर चलता हुआ मिला। इसके बाद पुलिस उसे लगातार ट्रेस कर रही थी। यही वजह रही कि मुंबई से कोयंबटूर जाने के लिए ट्रेन में सवार कोमल को बरामद कर लिया गया।

क्या कहते हैं एसपी सिटी
कोमल को सकुशल बरामद कर लिया गया है। महिला मुंबई से ट्रेन के जरिए कोयंबटूर जा रही थी। मोबाइल नंबर के आधार पर सर्विलांस की मदद से पुलिस ने बंगलूरू में बरामद कर लिया। महिला को गाजियाबाद लाया जा रहा है। महिला का कहना है कि पति और ससुराल से परेशान होकर उसने यह कदम उठाया है। पूछताछ के बाद अन्य जानकारी मिल पाएगी।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *