भव्य दादा मेला व चातुर्मास मंगल प्रवेश

Nirmal jain/Key line times news

अजमेर -अरावली पर्वत की श्रंखला के मध्य राजस्थान के हृदय स्थल अजमेर के संस्थापक महाराजाधिराज अजय पाल के पुत्र महाराज अनु राजा को भगवान महावीर के अहिंसा व पावन महाव्रत के सिद्धांतों से प्रतिबोधित कर आत्म कल्याण की ओर ले जाने वाले 12 वीं सदी के युग प्रधान महान कर्मयोगी अध्यात्मिक ज्ञान के धनी अनेक विद्याओं में पारंगत तपस्वी त्यागी व्यक्तित्व वाले प्रथम दादा गुरुदेव श्री जिनदत्त सुरी जी महाराज थे जिन्होंने निरामिष आहारी एवं व्यसनी जीवन व्यतीत करने वाले एक लाख तीस हजार व्यक्तियों को अपने प्रभावशाली सद्उपदेश से व्यसन मुक्त जीवन जीने की संकल्प कराकर जैन बनाया एक दिवस में 500 साधु एवं 700 साध्वियों को जैन धर्म में दीक्षित कर भगवान महावीर के जियो और जीने दो के संदेश को प्रचारित एवं प्रसारित किया आषाढ शुक्ला 1211 में इसी समाधि स्थल पर अग्नि संस्कार के समय महान चमत्कार हुआ दादा गुरुदेव धारण किए गए वस्त्र चोलपट्टा मुहपत्ति व चादर जो बिना जले चमत्कारी रूप से बाहर निकल पड़े वे आज भी जैसलमेर किले के मंदिर के ज्ञान ज्ञान भंडार में दर्शनार्थ है

खरतरगच्छ आचार्य जिनदत्त सुरी दादा गुरुदेव के 865 में स्वर्गारोहण दिवस पर 11 व 12 जुलाई को अजमेर में आयोजित होने वाले भव्य दादा गुरुदेव मेला

व परम पूज्य शासन ज्योति मनोहर श्री जी महाराज साहब का आदि ठाणा-7 का भव्य मंगल प्रवेश जिसमें भारत के हर कोने से काफी संख्या में श्रद्धालु भाग लेंगे जिसमें श्री जैन श्वेतांबर खरतरगच्छ दादावाड़ी अध्यक्ष विक्रम सिंह जी पारख ने बताया की श्री जिनदत्तसुरि मंडल के तत्वाधान में आयोजित होने वाले मेले में साध्वी परम पूज्य मनोहर श्री जी म.सा. व अन्य साध्वी जन के सानिध्य में दो दिवसीय धार्मिक कार्यक्रम होंगे। श्री जिनदत्त सूरि मंडल के मंत्री महोदय श्री सतीश जी बुरड़ ने बताया कि 11 जुलाई को सुबह 7:00 बजे भगवान पारसनाथ व दादा गुरुदेव की पक्षाल व नवांग पूजा ,7:30 बजे नवकारसी ,10 बजे गोखरू परिवार की ओर से धव्जा चढ़ाई जाएगी, सुबह 10:15 बजे दादा गुरुदेव की गुनानुवाद सभा व मंगल प्रवचन दोपहर 2 बजे भगवान पारसनाथ पंचकल्याणक पूजा व रात्रि में भक्ति संध्या होगी इसमें रायपुर के अंकित लोढ़ा एवं पार्टी अमदाबाद की झरना शाह पाली की आईसी जैन एंड पार्टी के कलाकार प्रस्तुति देंगे 12 जुलाई को सुबह 6:00 बजे ,भक्तामर स्त्रोत 7:30 बजे भगवान पार्श्वनाथ व दादा गुरुदेव की प्रक्षाल पूजा 7.45 बजे सामूहिक पूजा 8:00 बजे दादा नवकारसी 9:30 बजे दादा गुरुदेव की भव्य शोभायात्रा वाह चातुर्मास मंगल प्रवेश 10:00 बजे गुरु मंदिर शिखर पर ज्ञानचंद सरला गोखरू परिवार की ध्वजा चढ़ाई जाएगी वह दादा गुरुदेव की बड़ी पूजा की जाएगी मेला लाभार्थी विजयनगर निवासी ज्ञान चंद जी गोखरू है।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *