2 साल पहले 1600 पौधे लगाकर वन विभाग उन्हें पानी पिलाना भूल गया

कागजो मे बकायदा पौधे पानी पी रहे है और उनकी सार संभाल हेतू लेबर भी काम कर रही है

क्षेत्र-आगोलाई
क्षेत्रफल-8 हेक्टेयर
पौध रोपण -1600
वर्ष-2017
जिम्मे-राजस्थान सरकार वन विभाग

Amar yadav@key line times news

जोधपुर। राजस्थान सरकार के अधीन वन विभाग के मार्फत मुख्यमंत्री जल स्वावलंबन योजना के तहत आगोलाई गांव मे वृक्ष कुंज स्थापित करने को लेकर सार्वजनिक तालाब के पास करीब 8 हेक्टेयर क्षेत्र में वर्ष 2017 में 1600 पौधों का रोपण किया गया था लेकिन पौधे रोपने के बाद वन विभाग अपनी जिम्मेदारी से मुंह मोड़ गया और पौधों को पानी देना भूल गया जिसके चलते पौधे सूख कर जल गए हैं मौके पर खाली गड्डे ही दिखाई दे रहे है,देखा जाए तो हाल ही मे मौके पर महज 10-15 पौधे ही जीवित मिल पाएंगे।

आरटीआई कार्यकर्ता हीराराम मेघवाल,राकेश,रघुनाथ कड़ेला, रतनाराम भील, सत्ता राम,खेराज राम भील,गणपतराम कड़ेला सहित अन्य ग्रामीणों ने विरोध प्रदर्शन करते हुए बताया कि आगोलाई ग्राम पंचायत परिक्षेत्र में सार्वजनिक तालाब के पास वर्ष 2017 में राजस्थान सरकार के वन विभाग द्वारा करीब 8 हेक्टेयर परिक्षेत्र में कुल 1600 पौधों का रोपण कर वृक्ष कुंज स्थापित किया गया था।

ग्रामीणो का आरोप है कि पौधों को पानी देने हेतू लगातार पानी के टैंकरों की सप्लाई भी हो रही है वहीं पौधों की देखरेख केतू नरेगा के माध्यम से करीब 10 15 लेबर भी कागजो मे लगातार चल रही है फिर भी 2 वर्ष बाद पौधो की सही तरीके से देखकर के अभाव मे पौधे जल गए हैं मौके पर वर्तमान में करीब 10-15 पौधे ही जीवित मिल पाएंगे वो भी कुछ दिन पहले ही लगवाए है,ग्रामीणों ने वन विभाग पर घोर लापरवाही का आरोप लगाते हुए जिम्मेदार कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।

कार्यवाही की मांग

वन विभाग की तरफ से लाखो रुपये खर्च कर आगोलाई मे वर्ष 2017 मे सोलह सौ पौधे रोपे गये थे जो सही तरीके से देखरेख नही करने जल गये है लापरवाह कर्मचारीयो के खिलाफ कार्यवाही की जाय।

हीराराम मेघवाल

आरटीआई कार्यकर्ता आगोलाई

तेज सर्दी एंव तेज गर्मी का मौसम पौधो के लिए खराब होता है, हो सकता है कुछ पौधे जल गये होगे तो उसकी जगह वापस नये पौधे लगावा दिये जायेगे।

प्रेमसिह

क्षैत्रिय वन अधिकारी बालेसर

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *