कानपुर सैंट्रल रेलवे स्टेशन पर अवैध वैंडरों का बोलबाला

ब्यूरो चीफ दिलशाद अहमद मोहम्मद फरीद संवाददाता

Key line times

www.keylinetimes.com

Youtube.keyline times

*कानपुर सेंट्रल में नही बंद हो रहा अवैद्य वेंडरों का आवगमन बोरियों में खुलेआम पॉपकार्न .रेवडी.पानी की बोतलें बिक रही है*
*************************

कानपुर सेंट्रल में काफी सुधार हो गया और कई रेलवे अधिकारियों कों पुरुस्कृत भी किया गया कई चोर गैंग पकड़े भी गये और जेल भेजे गये। पर अवैध वेन्डर पूरी तरह से खत्म नही हुए अब माल बेचने के तरीके बदल गये जिसका जीता जगता सबूत है के अब माल प्लास्टिक की बोरियों में भरकर सुतरखाने से सुरंग के रास्ते अन्दर किया जा रहा है इन बोरियों में रेवड़ी .कम्पट .पॉपकॉर्न और पानी की बोतलो सहित अन्य कई समान ट्रेनों तक पहुंचाया जाता है
जबकि सुरंग के प्रवेश द्वार पर एक कैमरा लगा है उसके बाद भी ये अवैध वेन्डर आराम से बोरियों में ये सब समान स्टेशन से ट्रेन तक पहुंचाते है अब बात आती है के रेलवे के सुरक्षा तंत्रों कों ये सब क्यों नही दिखता कैसे ये पानी की बोरियां ट्रेनों तक पहुंच जाती है।

*पॉपकार्न ले जाते वेन्डर ने कहा राकेश शुक्ला का है ये माल*

आज जब एक वेंडर बोरी में पॉपकॉर्न लेकर बेफिक्र होकर स्टेशन के अन्दर जा रहा था तो उसे रोककर जब पूछा गया ये माल किसका है तो उसने राकेश शुक्ला का नाम लेते हुए बताया के ये माल सुतरखाना स्थित किसी मकान से लाया है और लखनऊ जा रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये रेवडी कम्पट का खेल
*संत शर्मा (कारखास RPF ) सन्दीप शुक्ला .ब्रजेश त्रिपाठी* इन सभी की दयाद्रष्टि से चल रहा है वरना जिस स्टेशन के चप्पे चप्पे में कैमरे लगाये गये हो वहां ये अवैध वेन्डर कैसे माल अन्दर ले जाते है।

*अब अवैध वेंडरों ने माल बेचने का अनोखा तरीका अपनाया*

*अब यात्री बनकर अवैध वेन्डर काले धारीदार पिठु बैग में माल लेकर घूमते है जिसमें पानी की बोतल लगीं रहती है और हाथ में पेपर ऎसे लगता है जैसे कोई यात्री हो पर वास्तव में जैसे ही गाड़ी गंगा पुल पार होती है वैसे ही माल बेचना शुरू हो जाता है।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *