गाजियाबाद : डीएम के आदेश की जमकर धज्जियां उड़ा रहे स्कूल संचालक, आदेश के बाद भी खुले स्कूल

गाजियाबाद। कांवड़ यात्रा के कारण शहर में जाम की स्थिति को देखते हुए जिलाधिकारी ने 30 जुलाई तक सभी स्कूल बंद करने के आदेश दिए थे। जिलाधिकारी के आदेश के बावजूद कुछ निजी स्कूलों ने मनमानी करके विद्यालय खोले। शिक्षा विभाग के अधिकारियों को जानकारी हुई तो उन्होंने विद्यालयों को बंद कराया। बीएसए ने चेतावनी दी है कि अब कोई स्कूल खुला पाया गया तो कार्रवाई की जाएगी।
कांवड़ यात्रा के चलते मेरठ मार्ग और शहर में जाम की स्थिति हो गई है। विद्यालय बंद होने के दौरान शहर में चाराें तरफ जाम लग जाता है। स्कूली बच्चे कई घंटे जाम में फंसे रहते हैं। इस समस्या को देखते हुए जिलाधिकारी अजय शंकर पांडेय ने 30 जुलाई तक सभी स्कूल बंद करने के आदेश दिए थे, लेकिन कुछ निजी स्कूलों ने आदेश की खुलेआम धज्जियां उड़ाईं। नंद ग्राम में आरएमएल पब्लिक स्कूल कल भी खुला था और आज भी खुला है हालाकि उन्होनें छोटे बच्चों की छुट्टी कर दी है लेकिन बड़े बच्चों की क्लास चल रही है, कल चिल्ड्रन एकेडमी और ठाकुर द्वारा सहित कई स्कूल खुले रहे। बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों को स्कूल खुलने की जानकारी हुई तो वह बंद करवाने के लिए दौड़ते रहे। 
बेसिक शिक्षा अधिकारी राजेश कुमार श्रीवास ने बताया कि बृहस्पतिवार शाम को आदेश निकाला था। कुछ स्कूलों को बंद के बारे में जानकारी नहीं थी। बच्चे स्कूलों में पहुंच गए थे। उन स्कूलों को अधिकारियों ने जाकर बंद कराया। उन्होंने चेतावनी दी है कि अब कोई स्कूल 30 जुलाई तक खुला मिला तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *