गाजियाबाद के डासना जेल में हजारों बहनों ने भाइयों को बांधी राखी

गाजियाबाद की डासना स्थित जिला कारागार में बंद भाइयों को बहनों ने राखी बांधी। बहनों ने भाइयों की जल्द रिहाई की भी दुआ की। यहां तड़के 5 बजे से ही हजारों महिलाएं पहुंच गई थीं। महिलाओं के साथ कुछ युवक भी जेल में बंद बहनों से राखी बंधवाने पहुंचे थे।

जेल अधीक्षक विपिन कुमार मिश्रा ने बताया कि जेल में त्योहार पूरे रीति-रिवाज के साथ मनाए जाते हैं। गुरुवार को 4325 बहनें अपने भाइयों को राखी बांधने के लिए पहुंची। इसके अलावा 41 भाई भी आए थे, जिनकी बहनें जेल में बंद हैं। महिलाओं के साथ आए उनके 1422 बच्चों के खाने-पीने का बंदोबस्त किया गया था। उन्होंने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम थे। बहनों को जेल में सिर्फ राखी ही लाने की इजाजत थी। 200-250 महिलाओं का बैच एक बार में भेजा गया। सुबह 7 बजे से राखी बांधने शुरू हुआ और यह सिलसिला शाम 4 बजे के बाद तक चला। जेल में बंद बहनों को प्रशासन की ओर से राखी दी गईं। इस दौरान जेल का माहौल भावुक रहा। महिलाएं भाई के गले से लगते ही फफक पड़ीं। मुस्लिम महिलाएं अपने भाइयों को राखी बांधने पहुंचीं

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *