सरपंच गोपालसिह आत्महत्या प्रकरण….

महिला एलडीसी घटना के करीब 1 महीने बाद भी गिरफ्त से दुर।

डी.आर.धांधल सोलंकियातला, जिला रिपोर्टर @ की लाइन टाइम्स।

ग्रामीणो ने की को-ऑपरेटिव व पंचायत मे सभी कार्यो की जांच करवाने की मांग। सौंपा ज्ञापन।

जोधपुर । गत महीने मे हुए सोलंकियातला सरपंच गोपालसिंह राठौड आत्महत्या प्रकरण मे गिरफ्तार आरोपियो को-ऑपरेटिव सबंधी समस्त कार्यो व पंचायत के कार्यो की पुर्णतः निष्पक्ष उच्च स्तरीय कमेटी जांच करवाने की मांग की है।
ग्रामीणो ने बताया कि सरपंच गोपालसिंह आत्महत्या प्रकरण मे पंचायत के कार्यो मे घोटाला करके फर्जी सीले व चैक आदि को लेकर सरपंच आत्महत्या के लिए मजबुर करने के मामले पांच जनों के खिलाफ सरपंच के भतीज विरेन्द्रसिह ने शेरगढ पुलिस थाने मे मामला दर्ज करवाया था आरोपियो की गिरफ्तारी की मांग पर शव लेने पर परिजन अड गए थे जो 24 घंटे बाद पुर्व विधायक बाबूसिह राठौड व ग्रामीणो के समक्ष ग्रामीण एसपी राहुल बाहरठ से आश्वासन पर वार्ता सफल हुई थी लेकिन लाखो रूपयो मे मिली भारी रूपयो व घोटालो की निष्पक्ष जांच व एक महिला एलडीसी गिरफ्त से दुर है जिससे ग्रामीणो व परिजनो मे रोष है।

पुलिस न दो को-ऑपरेटिव व्यवस्थापक खेतसिह व भोमसिंह व ग्राम विकास अधिकारी महावीर प्रसाद आर्य व महिला एलडीसी के पति रावलसिंह को को गिरफ्तार किया। खेतसिह व भोमसिह के कब्जे से 45 लाख 78 हजार 610 रूपये तथा पंचायत सबंधी दस्तावेज बरामद किये गये थे। लेकिन भारी मात्रा मे रकम व पंचायत के सभी कार्यो की निष्पक्ष जांच नही हुई है।

ग्राम पंचायत के सीज किए हुए तालों से हटी सील।

सीज किए हुए ग्राम पंचायत के तालों के कागज भी हट गये है जिससे ग्रामीणों को रिकॉर्ड गड़बड़ी की आशंका जता रही है।

प्रशासन मौन, राजनीतिक हस्तक्षेप की आशंका-
सरपंच गोपालसिह राठौड आत्महत्या प्रकरण मे ग्रामीणो द्वारा गत वर्षो मे हुए पंचायत के सभी कार्यो व सेखाला व सोलंकियातला को-ऑपरेटिव शाखा के व्यवस्थापक के पास गबन की बडी मात्रा मे मिली रकम के बाद भी कोई जांच नही हुई। ग्रामीणो ने जिला कलेक्टर, एसीबी, पुलिस एसपी आदि को ज्ञापन दिया और ग्रामीणो ने घोटाले के साक्ष्य भी पेश किए लेकिन राजनीतिक हस्तक्षेप के चलते कोई जांचीय कार्यवाही नही हो रही है जिससे ग्रामीण व परिजन गुस्से मे है।

घोटालो का मिला था 50 पेज का सुसाईड नोट
सरपंच गोपालसिह के आत्महत्या मामले मे पुलिस को 50 पेज का घोटाले के आरोप लगने का सुसाईड नोट भी मिला था जो एक साक्ष्य के बतोर है।

धरना प्रदर्शन की चेतावनी-

कोऑपरेटिव शाखा सेखाला व सोलंकियातला सहित पंचायत कार्यो की जांच करने की मांग पर यदि प्रशासन ने ध्यान दिया तो ग्रामीण व परिजन उग्र धरना प्रदर्शन व आंदोलन करेंगे।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *