तेरापंथ भवन सिलीगुड़ी मे समणी निर्देशिका कांतिप्रभा, समणी हिमांशुप्रज्ञा जी के सानिध्य में मनाया गया क्षमापना दिवस

Shashi jain

State president

women cell,

west bengal

“Upbhokta evem manav adhikar raksha samiti”

पर्युषण महापर्व आराधना*
आज दिनांक 4 सितम्बर को समणी निर्देशिका कांतिप्रज्ञाजी समणी हिमांशुप्रज्ञाजी के पावन सान्निध्य में पयुर्षण महापर्व के अंतर्गत आज *क्षमापना दिवस* के रूप में तेरापंथ भवन सिलीगुड़ी में सुबह 6 बजे से मनाया गया,मंगलाचरण श्री प्रेम जी पांडे द्वारा आज के विषय पर गीतिका का संगान किया,सर्वप्रथम आचार्यवर,प्रमुखाश्रीजी, समस्त साधु,साध्वियों,समणियो से क्षमायाचना समणीजी ने करवाई,तद्पश्चात समन संस्कर्ति संकाय के आंचलिक प्रभारी श्री नरेन्द्र जी सिंघी ने श्रावक समाज से विराजित समणी निर्देशिका कांतिप्रज्ञाजी समणी हिमांशुप्रज्ञाजी से क्षमायाचना की दोनों समणीजी ने भी पूरे श्रावक समाज से क्षमायाचना की,इसके अंतर्गत सभा के अध्यक्ष श्री हेमंत जी कोठारी,सभा के निवर्तमान अध्यक्ष श्री हेमराज जी चोरडिया,महिला मंडल की अध्यक्षा श्रीमती रानी भंसाली,निवर्तमान अध्यक्षा श्रीमती कुशुम डोशी, तेयुप के अध्यक्ष श्री दीपक बोथरा,निवर्तमान अध्यक्ष श्री पंकज सेठिया,टी पी ऑफ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री नवीन पारख, अणुव्रत समिति के अध्यक्ष श्री बछराज जी बोथरा,निवर्तमान अध्यक्ष श्री सुरेंद्र जी घोड़ावत,ट्रस्ट भवन के पूर्व अध्यक्ष श्री रतनलाल जी भंसाली ने अपने भावों के द्वारा क्षमायाचना की प्रस्तुति प्रदान की,कुल 94 पौषध हुवे,समणी निर्देशिका कांतिप्रज्ञाजी ने आज के विषय पर अपने सारगर्भित विचार सभा में रखे,उन्होंने कहा की आप मन से दिल से एक दूसरे के साथ क्षमायाचना करे मन मे जितने भी विकार हो उसको आप बाहर निकाल कर आप एकदम ताजा हो जाये,अंत मे श्रावक समाज मे आपसी क्षमायाचना किया पुरुष महिलाओ से और महिलाएं पुरुष से क्षमायाचना की, काफी संख्या में श्रावको की उपस्थिति थी,पारणे की व्यवस्था आज भवन में सभा द्वारा की गई, कार्यक्रम का कुशल संचालन सभा के उपाध्यक्ष श्री मदन संचेती ने कुशलतापूर्वक किया।
प्रदाता:शशीकला बैद(सभा मीडिया प्रभारी)

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *