बागपत की जिलाधिकारी ने की विकास कार्यों की समिक्षा, नकारा अधिकारियों का रोका वेतन…लवी जैन

लवी जैन,जिला संवाददाता, बागपत

Key line times

बागपत की डीएम ने की विकास कार्यों की समीक्षा बैठक..

50 लाख से ऊपर के चल रहे निर्माणाधीन कार्यों की भी समीक्षा बैठक की
बैठक में उपस्थित ना होने वाले अधिकारियों का रोका वेतन
नोडल अधिकारी गौशालाओं का सप्ताह में करें दो दिन निरीक्षण

शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्ति को अवश्य मिले
ग्रामीणों को रोस्टर के अनुसार 17 घंटे विद्युत आपूर्ति की जाए
आज जिलाधिकारी शकुन्तला गौतम ने कलेक्ट्रेट सभागार में विकास कार्यों व जनपद में चल रहे 50 लाख से ऊपर के निर्माणाधीन कार्यो की समीक्षा बैठक की और संबंधित विभागीय अधिकारियों को व कार्यदयी संस्थानों को आवश्यक निर्देश देते हुए कहा कि जो जनपद में निर्माणाधीन कार्य चल रहे हैं वे गुणवत्तापूर्ण व समयबद्ध रूप से पूर्ण मानक के अनुरूप होने चाहिए। जिलाधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा कि निर्माणाधीन कार्यो का नोडल अधिकारी अवश्य निरीक्षण कर लें उन्होंने कहा निर्माणाधीन कार्यो की जांच थर्ड पार्टी से भी कराई जाएगी।
जिलाधिकारी ने विकास कार्यों की समीक्षा करते हुए संबंधित अधिकारियों को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि शासन द्वारा जो संचालित योजनाएं हैं उनका लाभ पात्र व्यक्ति को अवश्य मिलना चाहिए उन्होंने कहा कोई भी पात्र व्यक्ति संचालित योजना से वंचित नहीं रहना चाहिए उन्होंने संबंधित विभागों को निर्देश देते हुए कहा कि ब्लॉक स्तर पर कैंप लगाए जाएं और पात्र व्यक्तियों को योजना से जोड़ा जाए। जिलाधिकारी ने कहा सोशल कार्यों में कोई भी लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी जितनी भी शासन द्वारा पेंशन चल रही है पेंशन पात्र धारक की पेंशन अवश्य बननी चाहिए चाहे वह वृद्धा पेंशन, दिव्यांग पेंशन ,विधवा पेंशन हो उन्होंने कहा योजना का व्यापक प्रचार-प्रसार होना चाहिए

जिससे कि अधिक से अधिक पात्र व्यक्ति योजना से लाभान्वित हो सकें। जिलाधिकारी ने कहा मिशन अंत्योदय योजना के अंतर्गत प्रधानमंत्री ग्राम ग्रामीण आवास योजना का भी सर्वे गांव-गांव कराया जाए जिससे कि पात्र व्यक्तियों को आवास आवंटित हो सके और सर्वे की रिपोर्ट शासन को प्रेषित की जा सके। जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि पात्र गृहस्थी कार्ड बनाने के लिए ग्राम पंचायतों में खुली बैठक की जाए और एक माह में जिला पूर्ति अधिकारी व डिप्टी आरएमओ द्वारा राशन दुकान के कम से कम 10 -10 निरीक्षण अवश्य करे जाएं और सप्लाई स्पेक्ट्रो को भी निरीक्षण करने के लिए निर्देशित किया जाए उन्होंने कहा राशन दुकानों की त्रिस्तरीय चेकिंग भी कराई जाएगी। उन्होंने कहा जो लोग विद्युत, गैस कनेक्शन धारक हैं उन्हें मिट्टी का तेल नहीं दिया जाएगा। और जो राशन विक्रेता मानक के अनुसार राशन वितरण नहीं करेंगे ई पोस मशीन के आधार पर वितरण होना चाहिए जिसकी तिथि 5 से 22 होगी । और 23, 24, 25 तिथि विशेष तिथि होंगी जिनमें ऐसे कार्ड धारक होंगे जिनका अंगूठा मैच नहीं कर रहा है उन्हें राशन दिया जाएगा।
जिलाधिकारी ने अधीक्षण अभियंता विद्युत को कड़े निर्देश देते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में 17 घंटे बिजली रोस्टर के अनुसार होनी चाहिए जो जिलाधिकारी को सीट पर नहीं दिखाई दी और उन्होंने लाइन लॉस पर भी नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने कहा नलकूप के जो ट्रांसफार्मर खराब पड़े हैं उन्हें तत्काल ठीक कराया जाए और वर्कशॉप का अधीक्षण अभियंता विद्युत स्वयं निरीक्षण करें आख्या उपलब्ध कराएं ।जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता बड़ोत द्वितीय को लाइन लॉस में खराब स्थिति होने के कारण चेतावनी जारी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा अधिशासी अभियंता सप्ताह में 2 दिन सब स्टेशनों का निरीक्षण करेंगे और रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।

जिलाधिकारी ने आज की समीक्षा बैठक में जो अधिकारी बिना सूचना दिए अनुपस्थित रहे अधिशासी अधिकारी छपरोली, अधिशासी अधिकारी दोघट, जिला खादी ग्राम उद्योग अधिकारी व जिन विभागों ने प्रगति ठीक नहीं रही उनको कड़ी चेतावनी जारी की जिलाधिकारी ने फसल सुरक्षा बीमा योजना की प्रगति ठीक नहीं होने पर जिला कृषि अधिकारी ब कृषि उपनिदेशक को प्रधानमंत्री किसान सम्मान सम्मान निधि में डाटा संबंधित में चेतावनी जारी की ।
अधिशासी अभियंता सिंचाई विभाग को चौगामा नहर और 12 नालों की साफ किए गए जिनकी फोटो अपलोड न करने पर चेतावनी जारी की और वेतन रोकने के भी निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने स्थापित अस्थाई गो आश्रय स्थलों के बारे में नोडल अधिकारियों से भी समीक्षा की उन्होंने सभी नोडल अधिकारियों को निर्देश दिए कि सप्ताह में 1 दिन गो आश्रय स्थल का निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होंने कहा खोर पानी बिजली चारा साफ-सफाई दवा की उपलब्धता ईयर टेकिंग अवश्य होनी चाहिए। जिलाधिकारी ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिए कि जनपद में कोई भी गोवंश सड़कों पर नजर नहीं आना चाहिए इसके लिए मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी अपनी टीम को अलर्ट कर दें और प्रतिदिन स्वयं 3 गौशालाओं का निरीक्षण भी करें।
जिलाधिकारी ने कहा आईजीआरएस पर शिकायत प्राप्त शिकायतों का निस्तारण अधिकारी समय से करते रहें डिफाल्टर की श्रेणी में कोई भी शिकायत नहीं आनी चाहिए उन्होंने कहा कि अगस्त माह की रैंकिंग प्रदेश में जनपद बागपत की प्रथम रेक रही है यह रैंकिंग निरंतर बनी रहनी चाहिए प्रथम रैंक आने पर अधिकारियों को बधाई भी दी।
मुख्य विकास अधिकारी पीसी जायसवाल, सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी खंड विकास अधिकारी आदि उपस्थित रहे
बागपत
लवी जैन
9012547168

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *