खेजड़ली महाबलिदान अखिल भारतीय बिश्नोई युवा संघठन द्वारा खेजड़ली को राष्ट्रीय धरोहर सहित दस सूत्री मांगों के लिए सौंपा ज्ञापन

रामदेव बिश्नोई सजनाणी जोधपुर

अखिल भारतीय विश्नोई युवा संगठन द्वारा खेजड़ली दिवस को राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस दिवस घोषित करने सहित अन्य मांगों को लेकर शनिवार को जिला कलेक्टर के बाहर धरना दिया गया।साथ ही अपनी मांगों का एक ज्ञापन प्रधानमंत्री के नाम का जिला प्रशासन को सौंपा। ज्ञापन में बताया कि विश्नोई समाज के 363 लोगों ने गुरु जम्भेश्वर भगवान की शिक्षा हरे वृक्षों की रक्षा करने का पालन करते हुए मां अमृतादेवी बिश्नोई के नेतृत्व में खेजड़ली में अपने प्राण न्योछावर किए थे। इसके बाद इस दिवस को शहिद दिवस के रूप में मनाया जाता है।पूरे भारतवर्ष में यह एक ऐसी घटना है जो कही नहीं घटी। अतः इस दिवस को राष्ट्रीय पर्यावरण दिवस घोषित किया जाए। इसके साथ ही अन्य बलिदान घटनाओं से हमारे देश की जनता और विद्यार्थी प्रेरित हो इसके लिए सभी शिक्षा बोर्ड की की पाठक पुस्तकों में भी शामिल किया जाए । प्रतिवर्ष दिए जाने वाले अमृतादेवी बिश्नोई पर्यावरण संरक्षण पुरस्कार को केंद्र , राजस्थान और मध्यप्रदेश की तरह ही अन्य प्रदेशों में पर्यावरण संरक्षण के लिए इस दिया जाए जिसके लिए केन्द्र सरकार इसका अध्यादेश जारी करे ।इन सभी मांगों को लेकर अखिल भारतीय विश्नोई युवा संगठन की तरफ से धरना दिया गया है।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *