बेखौफ बदमाशों ने खुद को क्राइम ब्रांच का बताकर युवक से ठग लिए एक लाख रुपए

नौशाद अली, संवाददाता, गाजियाबाद। मोहननगर चौराहे पर देहरादून जाने के लिए बस के इंतजार में खड़े युवक को कार सवार तीन बदमाशों ने लिफ्ट दी। कार सवारों ने खुद को क्राइम ब्रांच पुलिस से बताया और चेकिंग के नाम पर युवक से एटीएम कार्ड और मोबाइल ले लिए। इसके बाद एक थाने पर कुछ मिनट के लिए जाने की बात कहकर पीड़ित को राजनगर एक्सटेंशन चौराहे पर उतारकर भाग गए। काफी देर इंतजार करने के बाद जब नहीं आए तो पीड़ित वहां से देहरादून के लिए निकल गया। बाद में उसके खाते से करीब एक लाख रुपये निकल गए। मामला आठ सितंबर का है। पीड़ित ने पिछले शनिवार को साहिबाबाद थाने रिपोर्ट दर्ज कराई है।

देहरादून के पटेलनगर स्थित टी स्टेट कुंज विहार में दुर्गा वेदपाल परिवार के साथ रहते हैं। वह आठ सितंबर को किसी काम से गाजियाबाद आए थे। दोपहर करीब एक बजे देहरादून जाने के लिए मोहननगर चौराहे पर बस का इंतजार कर रहे थे, तभी एक कार आकर रुकी। चालक ने देहरादून जाने की बात कहकर कार में बैठा लिया। पीड़ित ने बताया कि कार में पहले से ही दो अन्य लोग थे। उन्होंने बताया कि कार में बैठने के दौरान पीछे बैठे दोनों युवकों ने खुद को पुलिस क्राइम ब्रांच से होना बताया। इसके बाद उनकी तलाशी ली। तलाशी लेने के बाद पीड़ित से पर्स लेकर लौटा दिया। उसका एटीएम कार्ड ले लिया। राजनगर एक्सटेंशन चौराहे पर तीनों कार सवारों ने थाने में कुछ देर का काम बताकर लौटने की बात कही। इसके लिए उन्होंने चौराहे पर ही इंतजार करने की बात कहकर कार से उतार दिया और चले गए। कई घंटे तक तीनों नहीं आए तो पीड़ित को शक हुआ। वह बस में बैठकर देहरादून चला गया।
एटीएम से निकाले एक लाख, मोबाइल से निकाल सिम
पीड़ित ने बताया कि शातिरों ने जांच के लिए उनका मोबाइल लिया था। मोबाइल से सिम कार्ड निकाल लिया। उन्होंने राजनगर एक्सटेंशन चौराहे पर इंतजार करने के दौरान जब घर कॉल करने के लिए मोबाइल निकाला तो सिम कार्ड नहीं था। कुछ दिनों के भीतर शातिरों ने उनके खाते से करीब एक लाख सात हजार रुपये निकाल लिए। आशंका है कि रुपये ऑनलाइन निकाले गए हैं। इसके लिए उसका सिमकार्ड का प्रयोग किया गया है। पीड़ित ने 21 सितंबर को रिपोर्ट दर्ज करा दी है।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *