नही हो पाया सेतरावा पंचायत समिति बनाने का प्रारूप प्रकाशन क्षेत्रवासियो मे रोष

विधायक पर लगा समिति के प्रस्ताव को रूकवाने का आरोप ।

डी.आर.धांधल @ जिला रिपोर्टर की लाइन टाइम्स।

जोधपुर। जिले के सेतरावा क्षेत्रवासियो की ओर से सेतरावा को पंचायत समिति बनाने की मुहिम आखिर सिरे नही पढ पाई । सेतरावा को पंचायत समिति का प्रस्ताव का प्रारूप प्रकाशन जिलास्तर से नही हो पाया जिससे ग्रामीणो में भारी रोष व्याप्त है क्षेत्रवासियों ने शनिवार को सेतरावा मे लोहावट विधायक के समक्ष भारी रोष जताते हुए पंचायत समिति का रूकवाने का आरोप लगाया दुसरी ओर लोहावट विधायक किशनाराम विश्नोई ने ग्रामीणो के समक्ष अपना पक्ष रखते हुए कहा कि मै नही, सरकार व प्रशासन नई पंचायत समितियां नही बनाना चाहते है। इस पर लोगो ने कहा कि आप प्रशासन व सरकार नाम बेवजह नही लेवे सरकार की पुर्ण मंशा नई समितिया बनाने की है प्रस्ताव रोकने के लिए विधायक द्वारा इस सबंधी विधायक द्वारा लिखे पत्र को उन्ही को बताते हुए रोष प्रकट किया
शनिवार को इस सबंध मे सेतरावा के आईटी केन्द्र मे आयोजित बैठक मे पुर्व प्रधान कल्याणसिह राठौड की मौजुदगी मे सेतरावा क्षेत्र के जेठानिया, चौरडिया, जैतसर, वीरमदेवगढ, खिंयासरिया, आसरलाई, बुडकिया, कलाऊ, कानोडिया आदि गांवो से क्षेत्रवासी व कांग्रेस कार्यकर्ता आदि मौजुद रहे। बैठक मे सेतरावा पंचायत समिति को लेकर अब तक हुई कार्यवाही का पुरा विवरण दिया गया। पंचायत समिति का प्रस्ताव प्रारूप प्रकाशन नही होने के मुख्य कारणो से अवगत करवाया गया। बैठक मे लोहावट विधायक किशनाराम विश्नोई भी मौजुद थे।

विश्नोई के समक्ष पुर्व प्रधान कल्याणसिह राठौड ने सेतरावा पंचायत समिति का प्रारूप प्रकाशन नही होने पर नाराजगी जाहिर की राठौड़ ने कहा कि सेतरावा क्षेत्रवासी पिछले 15 वर्षों से पंचायत समिति की मांग कर रहे हैं लेकिन हर बार उपेक्षा हो रही है इस बार विधायक से आशा थी लेकिन फिर भी बने बनाए समिति के प्रस्ताव पर एन वक्त पर रोक दिया। इससे लोगों में रोष है

सेतरावा सरपंच गोपालसिंह राठौड़ ने ग्रामीणों का पक्ष रखते हुए कहा कि विधायक जी ने सभी गांववासियों की मौजूदगी हमें पूर्ण आश्वासन दिया था कि सेतरावा को समिति बना दिया जाएगा विधायक ने गत 28 अगस्त को सेतरावा को समिति बनाने की डिजायर जिला कलेक्टर के नाम की ग्रामीणो को सौंपी थी इस पर शेरगढ व लोहावट दोनों विधायको के डियाजर पत्र व प्रस्ताव जिला कलेक्टर को ग्रामीणो ने सौंप दिया था। एक दिन बाद 29 अगस्त को लोहावट विधायक विश्नोई ने जिला कलेक्टर को आऊ के अलावा अन्य कोई नई पंचायत समिति नही बनाने का पत्र भेज दिया। फिर भी एक प्रकाशन की तिथि तक आश्वासन मिलते गए इस दौरान क्षेत्रवासियो ने समिति की मांग को लेकर सीएम अशोक गहलोत को भी ज्ञापन सौंपा गया था

पंचायती राज विभाग द्वारा भेजा पत्र नही हुआ प्रस्ताव प्रकाश

बैठक में सरपंच गोपालसिंह राठौड़ ने पूर्ण विवरण रखते हुए बताया कि 27 सितंबर को सरकार द्वारा पंचायत राज विभाग माध्यम से जिला कलेक्टर के नाम एक पंचायत पुनर्गठन संबंधित पत्रांक भेजे गए थे जिसमें सेतरावा पंचायत समिति के रूप में प्रकाशन करने का प्रस्ताव जयपुर से जिला कलेक्टर को भेजा गया था इस पत्रांक की पालना बिंदु संख्या 2 मे स्पष्ट रूप से लिखा था कि इस बात का विशेष रूप से ध्यान रखा जावे कि संलग्न प्राप्त पत्रो, सुझावो आधार पर जो भी पंचायत समिति पुनर्गठन व नवसृजित होनी है वह समस्त प्रस्ताव पूर्ण रूप से प्रारूप प्रकाशन में सम्मिलित हो जावे कोई भी प्रस्ताव प्रारूप प्रकाशन से वंचित नहीं रह जावे कलेक्टर के आदेश पर उपखंड अधिकारी शेरगढ द्वारा सेतरावा पंचायत समिति का प्रस्ताव प्रारूप प्रकाशन के लिए जिला कलेक्टर को भेज दिया इसके बाद लोहावट विधायक 29 सितंबर को इस आदेश के संबंध मे सीधे जयपुर पंचायत राज अतिरिक्त मुख्य सचिव को पत्र भेजकर 30 सितंबर को होने वाले प्रारूप प्रकाशन मे समिति प्रकाशन का शुन्य लिखकर रोड़ा अटका दिया। इसकी प्रति जिला कलेक्टर को भी प्रेषित की गई फलस्वरुप सेतरावा पंचायत समिति का प्रस्ताव प्रकाशन से वंचित करते हुए जोधपुर में ही समिति का प्रकाशन रूक गया। उधर विधायक ने ग्रामीणो को कहा कि मेरा इसमे कोई दोष नही है। सरकार व प्रशासन नही चाहते है कि अधिक नई समितिया बने इस पर हमे ऊपर से दिशा निर्देशो के तहत लिखकर देना पडा है ग्रामीणों ने इस बात पर सहमत नहीं होकर उन्होंने आरोप लगाया कि आपके पत्र कहानी बयां कर रहे है पूर्व प्रधान कल्याणसिंह राठौड़ ने बाद में लोगों को शांत करते हुए लोहावट विधायक से संबंध मे सहयोगात्मक रवैया अपनाकर सभी को साथ मे लेकर पंचायत समिति सबंधी मांग पूरी करने की।
वर्षो से हमारी मांग: कार्यकर्ता नाराजगी बैठक में बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता भी उपस्थित थे सभी एकराय होकर सेतरावा को पंचायत समिति के लिए सहमति जताई पुर्व पंचायत समिति सदस्य वरिष्ठ कांग्रेस कार्यकर्ता नोट चंद अरोड़ा ने कहा कि हमारी मांग को अनसुना किया जा रहा है बरसों से कार्यकर्ता के रूप में सेवा दे रहे लेकिन उसकी सेवा का यह प्रतिफल विधायक दे रहे हैं।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *