शिक्षित बहू ही असली पूँजी: सहर्ष लौटाया 21 लाख 21 हजार रुपये का टीका

शेरगढ क्षेत्र की ग्राम पंचायत सुवालिया में आयोजित सगाई दस्तूरी कार्यक्रम समाज के लिए प्रेरणास्प्रद एवं अनुकरणीय मिसाल बन कर उभरा।

सुवालिया ग्राम पंचायत के सरपंच रामसिंह देवराज के सुपुत्र कुंवर धनुवर्द्धनसिंह देवराज के सगाई दस्तूरी कार्यक्रम में सराहनीय कदम उठाकर अनूठी मिसाल पेश की।हॉस्पिटलिटी मैनेजमेंट में बीएससी शिक्षित धनुवर्द्धनसिंह व उनके सरपंच पिता ने 21 लाख 21 हजार 21 रुपये का टीका यह कहकर सहर्ष वापिस लौटा दिया कि शिक्षित बहू ही असली पूंजी है।जयपुर में छोटा गुढा चोमू के मोहनसिंहजी शेखावत की सुपुत्री ज्योतिकंवर भूगोल में स्नातकोतर है।यह राजपूत समाज के लिए अनुकरणीय एवं प्रेरणास्पद कदम है।दर असल समाज में शिक्षा की अलख एवं जागरुकता से सामाजिक कुरीतियों में सुधार हो रहा है।रिमझिम बारिश के खुशनुमा माहौल व अमृत बेला में दस्तूरी कार्यक्रम समायोजित हुआ।

11 हजार रुपये शिक्षा के लिए भेंट

टीका दस्तूरी राशि सहर्ष वापिस लौटाने पर 11 हजार रुपये सुवालिया ग्राम पंचायत स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में बालिका शिक्षा के लिए भेंट किये।स्थानीय विद्यालय में सहयोग राशि भेंट करने पर प्रधानाचार्य सत्येंद्रसिंह चौहान, व्याख्याता मदनसिंह राठौड़, जगदीप व विक्रमसिंह राठौड़ ने आभार व्यक्त किया।

इस कार्यक्रम में शेरगढ विधायक मीनाकंवर, प्रदेश कांग्रेस कमेटी सदस्य उम्मेदसिंह राठौड़, झुंझनू के भाजपा जिला अध्यक्ष राजवीरसिंह शेखावत,शेरगढ तहसीलदार मनोहरसिंह राठौड़, पूर्व जिला परिषद सदस्य जबरसिंह राईसर, सुवालिया ठाकुर गुलाबसिंह, राजपूत विकास समिति शेरगढ के भगवानसिंह तेना,डॉ.मनोहरसिंह सेतरावा, पीईईओ सत्येंद्रसिंह चौहान, राजस्थानी साहित्यकार मदनसिंह सोलंकिया तला, अर्जुनसिंह राणावत उदयपुर , गोपालसिंह सोईंतरा, एसीबीओ गायड़सिंह राईंसर, एडवोकेट राजेन्द्रसिंह चौहान पीपरली, विक्रमसिंह राठौड़, मोतीसिंह,उम्मेदसिंह, पूर्व सरपंच लाभूसिंह भोमसागर, सरपंच शिवदानसिंह चाबा , मांगू सिंह ओला, महेंद्रसिंह रावलोत कस्तूराराम चौधरी, अध्यापक दीपसिंह चौहान, रामूराम दैय्या सहित गणमान्य लोग शरीक हुए।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *