मकर संक्रान्ति पर शिक्षादान की पहल – 13 महिलाएं तेरूटी में शिक्षादान करेंगी

अनूठी पहल – परम्परा वहीं, सोच नई

शिक्षादान में बढ़ चढ़कर कर रहे योगदान

कई विद्यालयों को मिल रहा शिक्षादान

Nirmal jain/key line times news

टोंक।पीपलू दान का प्राचीन काल से विशेष महत्व रहा है। विशेषकर मकर संक्रान्ति पर दान पुण्य करने की परम्परा सदियों से सनातन धर्म में चली आ रही है। ऐसे में इस परम्परा को बरकरार रखते हुए इसमें कुछ बदलाव करने की कोशिश की है हर हाथ कलम अभियान की टीम ने। उन्होंने सभी से अपील की है कि वह दान पुण्य करे, लेकिन उसमें शिक्षण सामग्री देकर शिक्षा दान कर पुण्य लाभ कमाएं। वहीं महिलाओं से अपील की गई है कि वह 14 वस्तुएं कल्पने में शिक्षण सामग्री का उपयोग करे। जिससे सरकारी विद्यालयों के जरूरतमंदों को लाभ मिल सके।

अभियान के राज्य संयोजक अंशुल जैन एवं वरिष्ठ सलाहकार शिक्षक दिनकर विजयवर्गीय ने बताया कि मकर संक्रान्ति का त्योहार दान पुण्य का विशेष महत्व रखता है। इस दिन परिवार की महिला सदस्यों द्वारा 14 वस्तुएं दान की जाती है। इस बार हर हाथ कलम अभियान टीम के सौजन्य से सरकारी विद्यालयों के जरूरतमंद बच्चों के लिए 14 शैक्षणिक सामग्री या उनके लिए उपयोग जूते, मौजे, बैग आदि दान में दिए जाने की पहल की गई है। जिससे इस त्योहार पर अधिक अधिक से लोग शिक्षादान कर सरकारी विद्यालयों को सहयोग कर सके।

क्या होगा किट में –

टीम हर हाथ कलम भी राज्य के कई जिलों में जरूरतमंद इक्कीस सौ बच्चों को स्टेशनरी किट भामाशाहो के सहयोग से वितरित करेंगी। किट में दो नोटबुक रजिस्टर, एक पेंसिल, शोपनेर, रबर एवं तिल का लड्डू आदि होंगे।

क्यों की गई पहल –

मकर संक्रान्ति पर शिक्षादान का महत्व बढाने एवं सरकारी शिक्षा को मजबूत करने के लिए यह पहल की गई है।

पहले भी कर रहे कार्य – हर हाथ कलम अभियान टीम द्वारा पहले से ही कार्य किया जा रहा है। जिसके तहत टोंक जिले में 12 स्टेशनरी बैंक खोलने सहित राज्य में 50 से अधिक स्टेशनरी बैंक जरूरतमंद की सहायता के लिए खोले जा चुके है।

पतंग महोत्सव भी मनाएंगे –

टीम द्वारा जरूरतमंद बच्चों के बीच जाकर पतंग उडाते हुए तिल के लड्डू वितरण कर पतंग महोत्सव भी मनाया जाएगा।

यहां भी मिला सहयोग –

तरुण जैन लाखेरी , हनुमान प्रसाद महिया श्री गंगानगर , श्रवण विश्नोई बाड़मेर, श्री गोविंद सारण, राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय जयकिशनपुरा के प्रधानाध्यापक रामगोपाल शर्मा, राकेश कुमार नामा, दिनकर विजयवर्गीय, रायसिंह, मोरपाल गुर्जर, मोहनलाल गुर्जर ने शिक्षादान की लोगों से अपील की तो जयकिशनपुरा के विद्यालय में शिक्षादान को लेकर 10 हजार रूपए की सहयोग राशि मदनलाल मीणा सोडा बावडी, दिव्यांशु दीपक शर्मा, हरिराम गुर्जर, राजकुमार, राजेन्द्र, प्रकाश, पूजा विजयवर्गीय सहित कई ने गुप्तदान के तहत दिए है। वहीं कई भामाशाहों से विद्यालय को स्टेशनरी जरूरतमंद विद्यार्थियों से मिली है।

13 महिलाएं करेंगी तेरूटी में शिक्षादान – दिनकर विजयवर्गीय ने बताया कि उनकी पहल पर मकर संक्रांति को 13 महिलाएं तेरूटी में शिक्षादान कर सरकारी विद्यालय के जरूरतमंद बच्चों की मदद करेगी।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *