दिल्ली अणुव्रत समिति द्वारा ” नशा नाश का द्वार” “करें प्रतिकार” कार्यशाला का आयोजन

नशा नाश का द्वार..

आर.के.जैन,मुख्य संपादक

Key line times

शनिवार, दिल्ली अणुव्रत महासमिति द्वारा प्रदत्त प्रकल्पानुसार अणुव्रत समिति दिल्लीद्वारा “*नशा नाश का द्वार:करें प्रतिकार*”कार्यशाला का आयोजन सेवा भारती सेवा धाम विद्या मंदिर मंडोली में किया गया।दीपप्रज्वलन डॉ.कुसुम लुनिया,श्री शान्तिलाल पटावरी के साथ टीम ने किया। विंधार्थियों की सुमधुर सरस्वती वंदना से शुभारम्भ हुआ।अणुव्रत गीत की प्रस्तुति असदि.के सक्रिय कार्यसमिति सदस्य श्री राजीव मेहनोत व एडवोकेट रविशर्मा ने गाया।संचालनकर्ता श्री सुशील जी ने अणुव्रत समिति दिल्ली की मन्त्री डॉ.कुसुम लुनिया को अणुव्रत परिचय के लिए विनम्रता से आमंत्रित किया।डॉ लुनिया ने अणुव्रतप्रवर्तक आचार्य तुलसी एवं आचार्य महाप्रज्ञ को जन्म शताब्दी के उपलक्ष मे श्रद्धा नमन करते हुएअणुव्रत अनुशास्ता आचार्य महाश्रमण की अहिंसा यात्रा से समस्त परिषद को परिचित करवाया।नशे के दुष्प्रभावों का ज़िक्र किया तथा नशे का परित्याग कर मोहन से महात्मा बने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का उदाहरण प्रस्तुत करते हुए विधार्थियों को नशामुक्ति की चैन द्वारा पांच पाचं व्यक्तियों को नंशा की आदत छुडवाने के लिए संकल्पित किया। वरिष्ट उपाध्यक्ष श्री शान्तिलाल पटावरी ने नशे के कारण व निवारण का विवेचन करते हुए अणुव्रत आचार संहिता के संकल्प दिलाये।सेवा धाम विद्या मंदिरके प्रबंधक श्री रविन्द्र जी,प्रिसीपल राजेन्द्र जी व वरिष्ट अध्यापक सुशील का अणुव्रत पट्टके व साहित्य से सम्मान ताराचन्द जी तायल,रामकुमार जी गोयल के साथ टीम अणुव्रत ने किया।रविन्द्र जी अणुव्रत की दिव्य ज्योति को प्रभावकारी रूप से प्रसारित करने हेतु समिति का आभार करते हुए निरन्तर जुडे रहने की आकाक्षा की।सामुहिक राष्ट्रगान के साथ कार्यक्रम समपन्न हुआ।तत्पश्चात समिति की तरफ से लड्डू भी वितरित किये गये।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *