पदोन्नति में आरक्षण को लेकर एकजुट हुये दलित समुदाय के अधिकारी-कर्मचारी

आरक्षण के प्रावधान को संविधान की नवीं अनुसूची में शामिल करें सरकार- मेघवाल

जोधपुर ब्यूरो चीफ अमर यादव@जोधपुर।

फलोदी उपखंड मुख्यालय पर स्थित अम्बेडकर सर्किल पर रविवार को अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के अधिकारियों- कर्मचारियों एंव जागरूक नागरिकों के संयुक्त नेतृत्व में पदोन्नति में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति फलोदी के तत्वावधान में एक दिवसीय धरना देकर विरोध प्रदर्शन किया गया तथा रैली निकालकर राष्ट्रपति,प्रधानमंत्री तथा मुख्यमंत्री के नाम के नाम 9 सूत्री मांगो का ज्ञापन उप जिला कलक्टर फलोदी को सौंपा गया।

इस अवसर पर उपस्थित दलित समुदाय के अधिकारीयों-कर्मचारियों तथा गणमान्य नागरिकों को संबोधित करते हुए पूर्व चीफ कमिश्नर केआर मेघवाल ने कहा पिछले दिनों आया सुप्रीम कोर्ट का फैसला दलित समुदाय के अधिकारियों तथा कर्मचारियों के हितों पर कुठाराघात है,संविधान में आरक्षण का प्रावधान दलित समुदाय का मौलिक अधिकार है,केन्द्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दलित समुदाय के अधिकारियों तथा कर्मचारियों के हितों की उचित पैरवी नहीं की है जिसके चलते यह फैसला आया है,आपने इस निर्णय के विरूद्ध संसद में अध्यादेश लाने तथा आरक्षण के प्रावधान को संविधान की नवीं अनुसूची में शामिल करने की मांग करते हुए आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी है। इस अवसर पर विचार व्यक्त करते हुए पूर्व प्रधान माणक मेघवाल एंव कृषि मंडी जोधपुर की पूर्व चेयरमैन श्रीमती कीर्ति सिंह भील ने कहा हमें आरक्षण के प्रावधानों को बचाने के लिए एकजुटता के साथ लंबी संवैधानिक लड़ाई लड़नी पड़ेगी,आपने दलित तथा ओबीसी समुदाय को उच्च न्यायिक सेवाओं में प्रतिनिधित्व देने के लिए भारतीय न्यायिक सेवा के गठन की भी मांग है,आपने कहा कि दलित समुदाय एकजुटता के साथ कर्मचारी वर्ग के साथ खड़ा है। इस अवसर पर वरिष्ठ समाज सेवी ज्ञानचंद जयपाल, चेतन मेघवाल,ललित कुमार गर्ग, डाॅ.निरंजन मेहरा,खींवराज गोगलू, जगदीश जयपाल,गोरखाराम शेखासर,आसुराम परिहार,दुर्गाराम बिरठ,महेश कुमार पाबूसर,अशोक कुमार मेघवाल,एडवोकेट गोरधन जयपाल,वल्लभ लखेश्री,रावतराम जयपाल,मोहनलाल,रेंवतलाल लीलावत,मोडाराम मेघवाल,बाबूलाल, सिंकदर खान,सुरजनराम जयपाल, समस्तदीन मंगलिया,भैराराम मकवाना,महेंद्र कुमार मीणा,बालाराम सिहड़ा,शिवलाल बरवड़ आदि ने भी संबोधित करते हुए पदोन्नति में आरक्षण को यथावत रखने तथा इसे संविधान की नवीं अनुसूची में शामिल करने की पुरजोर मांग की। इस दौरान उपस्थित सैकड़ो कर्मचारियों तथा गणमान्य नागरिकों ने विशाल रैली निकालकर राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री तथा मुख्यमंत्री के नाम का ज्ञापन उप जिला कलक्टर फलोदी यशपाल आहुजा को सौंपा,ज्ञापन में अजा- जजा वर्ग के कर्मचारियों के पदोन्नति में आरक्षण को यथावत रखने,सुप्रीम कोर्ट के फैसले के खिलाफ संसद में अध्यादेश लाने,अनुसूचित जाति-जनजाति तथा ओबीसी समुदाय को उच्च न्यायिक सेवाओं में प्रतिनिधित्व देने के लिए भारतीय न्यायिक सेवा का गठन करने,सरकारी सेवाओं में बैकलाॅग तुरंत भरने, आरक्षण के प्रावधान को संविधान की नवीं अनुसूची में शामिल करने,निजी क्षेत्र दलित समुदाय के आरक्षण लागू करने,संविदा पर होने वाली भर्तियों में भी आरक्षण के प्रावधानों को लागू करने,राजस्थान विधानसभा का विशेष सत्र आयोजित कर आरक्षण के प्रावधान को संविधान की नवीं अनुसूची में शामिल करने का प्रस्ताव पारित कर केंद्र सरकार को भेजने, अजा-जजा अत्याचार निवारण अधिनियम के मामलों में आर्थिक मुआवजा तुरंत देने तथा करणू प्रकरण के आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांगें प्रमुख है। कार्यक्रम का संचालन जगदीश जयपाल,गंगाराम चौहान,सूर्यप्रकाश जीनगर एंव अशोक कुमार मेघवाल ने किया। इस अवसर पर रावतराम जयपाल,कुदंन मेघवाल,अरविंद कुमार,पूर्व पार्षद गोपाल जीनगर, रामचंद्र जीनगर,श्रवण मीणा,मुकेश मीणा,सुरेश मेघवाल,रामचंद्र पंवार, मुरलीधर कटारिया,गणपत भाट, भंवरी मेघवाल,निरमा लीलड़,उदाराम चौहान,शिवलाल पंवार,स्वरूपाराम, चंदन कुमार,श्रवण जयपाल,विरमा पंवार सहित हजारों लोग उपस्थित थे। इस अवसर पर फलोदी,बाप, लोहावट,देचू,आऊ तथा घंटियाली ब्लॉक के हजारों लोग उपस्थित रहे। धरने-प्रदर्शन के दौरान शांति-व्यवस्था बनाये रखने के फलोदी एएसपी लक्ष्मीनारायण शर्मा,सीओ पारस सोनी तथा थानाधिकारी लक्ष्मण सिंह जाखड़ के नेतृत्व में पुलिस बल का माकूल बंदोबस्त रहा।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *