कला किसी डिग्री की मोहताज नहीं होती, इस कथन को सत्य साबित किया जांगिड़ ने

की लाइन टाइम्स न्यूज़ रिपोर्टर प्रवीण सिंह लोड़ता चामू —

जोधपुर जिले के चामू पंचायत समिति के ग्राम पंचायत ठाडिया गांव के युवा तेजू जांगिड़ ने। स्कूल के समय से लेकर अब तक इन्होंने कई कलाकृतियां बनाई, और अब ये ट्रेडिशनल से डिजिटल आर्ट के फील्ड में भी आ चुके है। तेजू ने अपनी ट्रेडिशनल आर्ट और डिजिटल आर्ट से लोगों का मन मोह लिया है। इस कला को सीखने के लिए इन्होंने किसी कला अकादमी या कला का कोई कोर्स नही किया है।

टोनी कक्कड़

बल्कि यह सब इन्होंने स्वयं ही स्कूल व घर मे फ्री टाइम में सीखी है। तेजू ने बताया कि इनको स्कूल टाइम से ही कला में रुचि थी और इन्होंने अपनी कक्षा 9th से 12th तक पढ़ाई राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय लोड़ता अचलावता में की । इन्होंने जब लोड़ता स्कूल में आए उस समय विद्यालय में भारती फाउंडेशन की मदद से 2013 में 9th क्लास की पढ़ाई के समय ये स्केच बनाना शुरू किया।उसके बाद की पढ़ाई फाइन आर्ट से करनी थी परंतु परिस्थि अनुकूल न होने के कारण प्राइवेट फॉर्म भरके ग्रेजुएशन कर रहे है।

श्रेया घोषाल

लेकिन कला को नही छोड़ा। उनके द्वारा बनाए गए आर्ट वर्क को बॉलीवुड के कई जाने माने संगीतकर जैसे टोनी कक्कर और श्रेया घोषाल ने भी सराहा है। टोनी कक्कर ने इनको सोशल मीडिया (इंस्टाग्राम) पर फॉलो भी किया है। इसके अलावा इनके बनाए गए आर्ट को कई बड़े बड़े पंजाबी इंडस्ट्री के अभिनेता और संगीतकार भी शेयर कर चुके है। तेजू जांगिड़ पंजाब इंडस्ट्री के लिए काम भी कर चुके है। इन्हें बचपन से ही कला में रूचि थी। इन्होंने 12th की पढाई पूरी करके अपना प्रोफेशन आर्ट को चुना और आज ये इसी कार्य से अपने गांव व् शहर का नाम रोशन कर रहे है।कई पंजाबी गानों के पोस्टर पे उनके बनाये गए डिजिटल आर्टवर्क को भी देखा जा सकता है।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *