घर पहुंचने की जिद्द मजदूरों को हजारों किलोमीटर का सफर पैदल तय करने को मजबूर कर रही है

ब्यूरो चीफ अमर यादव@बालेसर/जोधपुर

कोरोना महामारी को लेकर लांकडाउन चल रहा है जिसके चलते सब लोग अपने घरों में कैद हैं लेकिन दूसरे राज्यों से राजस्थान के कई इलाकों में कृषि नलकूपों पर मजदूरी करने आए दिहाडी़ मजदूरों के काम खत्म होते ही घर जाने की जिद्द इनको हजारों किलोमीटर पैदल चलने को मजबूर कर रही है, जिसके चलते दिहाड़ी मजदूर दिन-रात पैदल चलकर अपने घर जाने का सफर तय कर रहे हैं।

शुक्रवार सुबह 20-25 दिहाड़ी मजदूरों का एक दल बालेसर उपखंड क्षेत्र की ग्राम पंचायत धीरपुरा पहुंचा,धीरपुरा हेल्प ग्रुप टीम के सदस्यों की तरफ से इनके खाने पीने की व्यवस्था की गई इस अवसर पर पूर्व वार्ड पंच गिरधर सिंह, समाजसेवी जगमाल सिंह,पंचायत सहायक गोपाल सिंह,वार्ड पंच पत्रकार अमर यादव ने मिलकर इनका सहयोग किया ।
यह मजदूर अपने आप को मध्य प्रदेश के उज्जैन जिले के रहने वाले बता रहे हैं यह हर वर्ष जैसलमेर के चांधन, देचू सहित आसपास के नलकूपों पर फसल काटने का काम करने आते हैं,फसल कटाई का कार्य समाप्त होते ही इन्हें घर की याद आई तो पैदल चलने के लिए मजबूर हो गए और अपने घर की तरफ निकल पड़े ।

मजदूरों से बातचीत करने पर उन्होंने बताया कि हम लगातार 10 दिनों से पैदल चल रहे हैं सब जगह हमें खाने पीने की खूब सामग्री मिल रही है लेकिन हमें तो सिर्फ घर पहुंचना है हमें खाने-पीने की सामग्री नहीं चाहिए हमें तो हमारे घरों तक जाने की सरकार व्यवस्था करें सब मजदूरों की एक ही मांग है।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *