बिना एहतियात बरतें धड़ले से लग  रहे बाज़ार, करीब 80 प्रतिशत लोग बिना मास्क लगाए आ रहे है बाज़ार

ANIL KUMAR SONI / COORDINATOR BIHAR ✍️

फाइल : फोटो

Bihar बिहार : कोरोना संक्रमण महामारी से लोग शुरूआती दौर में काफ़ी सावधानियों के बिच बच बचाव करते हुये सेफ रहे। समय- समय पर साफ सफाई, सोशल डिस्टेंसिंग, हर समय मास्क का उपयोग, कुछ घंटों अंतराल साबुन से हाथों को धोते रहना, सेनेटाइजर का इस्तेमाल इत्यादि बातें नियमावली बन गई थी।

लेकिन इधर वो सभी बातों को लगभग – लगभग लोग दरकिनार कर चल रहे हैं, बिना मास्क के लोग घरों से निकल कर बाज़ारों में नज़र आ रहे हैं। ऐसा प्रतीत होता हैं कि कोरोना महामारी कुछ हैं ही नही। न कोई डर, न कोई खौफ ! बेखौफ़ लोग कोरोना संक्रमण महामारी को दावत दें रहे हैं।

वही दुकानों कि बात कि जाये तो ज्यादातर दुकानदार बिना मास्क के ही पूर्व कि तरह दिन चर्या में लगे दिख रहे हैं।
ऐसा लग रहा हैं जैसे कोरोना संक्रमण से लोग अवगत नही हैं। एक तरफ पुरे देश में कोरोना संक्रमण कि लगातार हताशा वृद्धि होती ही जा रही हैं उसके बावजूद भी लोग इतनी रिस्क लेने को तैयार हैं। निडर होकर बिना मास्क, गमछे, रुमाल मे चेहरे को ढ़के कसमकस भीड़ में आते जाते दिख रहे हैं।

वही एक तरफ अगर होटलों कि बातें कि जाये तो होटलों में ना तो सेनेटाइजर रखे मिलेंगे और ना ही किसी तरह कि साफ सफाई। बिना मास्क के सभी लोग अपने -अपने कार्यों में लीन दिख रहे हैं।

थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था भी कुछ ही होटलों में मिल सकती हैं।
इन होटलों में कोरोना संक्रमण से रोकथाम को लेकर अलग से कोई व्यवस्था नहीं हैं।
दरअसल यहाँ कई रात्रि आवासीय होटल भी हैं जहाँ कई जगहों से चलकर आने वाले लोग इन्हीं होटलों में रुकते हैं। इसके बावजूद यहां किसी तरह की सावधानी नहीं बरती जा रही हैं।

ज़ब कि बस स्टैंड के सामने कि स्थित भी होटलों के संचालकों पर सवाल खड़े कर रही है।
सभी बातों का मूल तातपर्य सजग और सतर्क रहने कि सलाह विफल दिख रही हैं।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *