साधुवेश में सांसारिक प्रवृत्ति करने वालो को घर बैठाने के लिये अब हम भारत सरकार की मदद लेंगे : हार्दिक हुंड़िया

विश्व में हिन्दूओ का गौरव समान अनमोल जैन धर्म हमें मिला है। जैन धर्म के बारे में जो भी जानता है वो ये धर्म की त्याग, तपस्या और संयम जीवन की अनुमोदना करते हुये नहीं थकते है यह बात बताते हुए जैन धर्म के अग्रणी हार्दिक हुंड़िया ने बताया की कुछ उंगलियों पर गिने जाये ऐसे लोग जो परम कृपालु परमात्मा के साधु वेश में धर्म के नाम पर धंधा, व्यभिचार करते है उनको वापस संसार में भेजने का समय आ गया हैं। गुजरात के इडर में दो जैन साधु एक ही औरत के साथ व्यभिचार करते पकड़े गये जो बड़े ही शर्म की बात है। यह शर्मनाक घटना को समाज के सामने लाने वाले डॉक्टर आशित भाई दोशी, डॉक्टर निकुंज भाई वोरा और सभी ट्रस्ट मंडल को हार्दिक हुंड़िया ने जैन शासन के शेर कहे है। सं सांसारिक सभी क्रिया का त्याग करके एक मूमूक्ष आत्मा दीक्षा लेता है तब चारों तरफ़ जैन शासन की जय जयकार होती हैं। दीक्षा लेने वाले जैन साधु को लोग भगवान की तरह पूजते है क्योंकि उनके साधु वेश को नमन है, लेकिन साधु वेश में यदि कोई व्यभिचार करता है तो इनको भगवान महावीर के वेश में रहने का कोई अधिकार नहीं है, क्योंकि उसने धर्म के नियमो का उल्लघन किया है। हार्दिक हुंड़िया ने कहा है की जिस तरह से हम हमारे परिवार में, धंधे में बिलकुल ग़लत काम चलने नहीं देते तो हमारे धर्म में क्यों चलने दे ?
हार्दिक हुंड़िया ने बताया कि धर्म के नाम पर धंधा करने वाले साधु वेश में बैठे ये बहुरूपीयो से भी ज़्यादा नाटकबाज़ है, यह लोग उनके गुरु की जिन्होंने उनको दीक्षा दी उनकी भी नहीं सुनते है और कुछ मिले हुए भक्त जो इनका प्राइवेट ट्रस्ट सम्भालते है, उनके पैसों का हिसाब किताब सम्भालते है, इनकी मिली भगत के कारण ऐसे व्यभिचारी साधु वेश में लोग धर्म के नाम पर धंधा करते है। जो साधु वेश में गुरु की आज्ञा का पालन नहीं करता वो किसी का नहीं हो सकता, उस को साधु वेश में रहने का कोई अधिकार नहीं है। जैन साधु के वेश में बैठे व्यभिचारी काम करने वाले बाबाओं को कड़ी से कड़ी सज़ा मिले इस लिए जैन धर्म के एक अनुआईयो का प्रतिनिधि मंडल भारत सरकार के रक्षामंत्री श्री राजनाथ सिंह से मिलेंगा और धर्म के नाम पर धंधा करने वाले यह ठग बाबा और भक्तों का जो व्यवहार किस तरह से होता है उसकी पूरी जांच की जाये यह भी मांग करेंगे। शिथिलाचारी साधुओ को घर बैठाकर उनके कीये गये कारनामे बाहर लाकर समाज के सामने रखने लिए शिथिलाचार हटाओ की एक मुहिम चालु करने जा रहे है जिस में देश के वरिष्ठ धाराशास्त्री मनु सिंघवी जैसे कई महानुभावों से मार्गदर्शन लिया जाएगा। शिथिलाचार हटाओ इस मुहिम में हार्दिक हुंड़िया, महावीर श्रीश्रीमाल, डॉक्टर निर्मल जैन, डॉक्टर आशित दोशी, कैलाश जैन जैसे कई महानुभाव आगे आये है।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *