प्रत्यय अमृत बिहार के नए हेल्थ सेक्रेट्री, कोरोना काल के दौरान स्वास्थ्य विभाग में दूसरी बार फेरबदल !

[24/07, 16:05] PRESS: अनिल कुमार सोनी / प्रभारी बिहार
[24/07, 16:05] PRESS: ANIL KUMAR SONI / COORDINATOR BIHAR

बिहार में लगातार कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच राज्य सरकार ने बड़ा फेरबदल करते हुए स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव उदय सिंह कुमावत का तबादला कर दिया है। संजय कुमार की जगह 20 मई को उन्हें स्वास्थ्य विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया था। हालांकि कामकाज से संतुष्ट नहीं होने के बाद सरकार ने 68 वें दिन उन्हें पद से हटा दिया। उनकी जगह प्रत्यय अमृत को स्वास्थ्य विभाग का नया प्रधान सचिव बनाया गया है।


सात आईएएस अधिकारियों को नई जिम्मेदारी !
सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा सोमवार को जारी अधिसूचना के मुताबिक श्रम संसाधन विभाग के अपर मुख्य सचिव सुधीर कुमार का तबादला राज्य योजना पर्षद में  मुख्य परामर्शी के पद पर किया गया है। वह जांच आयुक्त, सामान्य प्रशासन विभाग के अतिरिक्त प्रभार में भी रहेंगे। स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव उदय सिंह कुमावत का तबादला राज्य योजना पर्षद में परामर्शी के पद पर किया गया है।
उनकी जगह ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत को स्वास्थ्य विभाग की कमान सौंपी गई है। पहले की तरह उनके पास आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव का अतिरिक्त प्रभार रहेगा। हालांकि अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक, बिहार राज्य पॉवर (होल्डिंग) कंपनी लिमिटेड के अतिरिक्त प्रभार से उन्हें मुक्त कर दिया गया है।

केन्द्रीय प्रतिनियुक्ति से लौटे मिहिर कुमार सिंह को श्रम संसाधन विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया है। विकास आयुक्त अरुण कुमार सिंह को बिहार लोक प्रशासन एवं ग्रामीण विकास संस्थान के महानिदेशक का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया है। वहीं वित्त विभाग के प्रधान सचिव एस सिद्धार्थ उद्योग विभाग के प्रधान सचिव के अतिरिक्त प्रभार में रहेंगे। हालांकि नर्मदेश्वर लाल उद्योग विभाग के सचिव के पद पर बने रहेंगे। जल संसाधन विभाग के सचिव संजीव हंस को ऊर्जा विभाग के सचिव के साथ बिहार स्टेट पॉवर (होल्डिंग) कंपनी लिमिटेड के अध्यक्ष सह प्रबंध निदेशक का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है। वहीं स्वास्थ्य विभाग के सचिव और जांच आयुक्त, सामान्य प्रशासन विभाग के अतिरिक्त प्रभार से उन्हें मुक्त कर दिया गया है। 
बता दें कि बिहार इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने रविवार को मुख्य्मंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखकर कहा था कि वर्तमान स्वास्थ्य सचिव का व्यवहार डॉक्टरों के प्रति उदासीन है। उनके व्यवहार से डॉक्टरों में रोष है। आईएमए ने भोजपुर और गोपालगंज के जिलाधिकारियों को भी चिकित्सक विरोधी व्यवहार के कारण स्थानांतरित किये जाने की मांग की।
बिहार आईएमए के सचिव डॉ सुनील ने अनुरोध किया कि जिस प्रकार प्रशासनिक और पुलिसकर्मियों के लिए कोविड अस्पतालों में 25 फीसदी बेड आरक्षित करने का निर्देश दिया गया है, उसी प्रकार डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों के लिए भी 25 फीसदी बेड आरक्षित की जाए। साथ ही, उन्होंने सभी डॉक्टरों से कोरोना के संकट काल में लोगों को अधिक अधिक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराने की अपील की।
बिहार में 2192 नए कोरोना संक्रमित मिले, 6 की मौत
बिहार में 2192 नए कोरोना संक्रमित मिले। इनमें 26 जुलाईं को 812, 25 जुलाईं को 1048 और 24 जुलाईं व इसके पूर्व 332 नए कोरोना संक्रमितों की पहचान शामिल है।इसके साथ ही बिहार में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 41,111 हो गई। जबकि सोमवार को छह कोरोना संक्रमितों की इलाज के दौरान मौत हो गयी। इसके साथ ही कोरोना पीड़ितों की मौत की संख्या बढ़कर 255 हो गयी। इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमित 27,844 स्वस्थ हो चुके हैं। राज्य में कोरोना संक्रमित मरीजों के स्वस्थ होने की दर 67.73 फीसदी है। 
पिछले 24 घंटे में 1536 संक्रमित मरीज स्वस्थ हुए
पिछले 24 घंटे में राज्य में 1536 संक्रमित मरीज स्वस्थ हो गए और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गयी। डाक्टरों ने उन्हें तत्काल 7 दिनों के लिए होम क्वारंटीइन में रहने की सलाह दी। राज्य में अबतक 27 हजार 844 संक्रमित मरीज स्वस्थ हो चुके है। जबकि बिहार में वर्तमान में 13 हजार 11 एक्टिव मरीज है। 

एक दिन में हुई 14,236 सैम्पल की जांच !
बिहार में पिछले 24 घंटे में 14,236 सैम्पल की जांच की गई। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राज्य में अबतक 4 लाख 70 हजार 560 सैम्पल की जांच की जा चुकी है। कोरोना की जांच की व्यवस्था एंटीजेंन किट के माध्यम से  प्राथमिक चिकित्सा केंद्र तक की गई है। इससे राज्य में जांच का दायरा बढ़ गया है। 

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *