डांग जिले के सुबीर ग्रामीण क्षेत्र में नेटवर्क समस्या के संबंध में कलेक्टर को आवेदन

– मनीष पालवा

गुजरात,आहवा-डांग:
डांग जिले के सुबीर तालुका के ग्रामीण इलाकों में लोगों को आपातकालीन सेवा 108, पुलिस, जैसी प्राथमिक सेवाओं का लाभ नेटवर्क की समस्या के कारण नहीं मिल रहा है । जागरूक आदिवासी जन एकता संगठन ने 5 गाँवों में नेटवर्क समस्या के समाधान के लिए कलेक्टर को आवेदन दिया था।


प्राप्त विवरण के अनुसार, डांग जिले के सुबीर तालुका के ग्रामीण इलाकों में लोग नेटवर्क की समस्या से जूझ रहे हैं। 21 वीं सदी के डिजिटल युग में, लोगों को फोन कॉल करना भी मुश्किल हो रहा है। इस क्षेत्र के ग्रामीण क्षेत्रों में, डिजिटल इंडिया और डिजिटल गुजरात की बात खोखली साबित हो रही है। कोरोना महामारी के कारण स्कूल और कॉलेज वर्तमान में बंद हैं। यद्यपि सरकार के प्रयासों से ऑनलाइन शिक्षा की व्यवस्था की गई है, लेकिन नेटवर्क और बिजली की समस्याओं के कारण इस क्षेत्र में ऑनलाइन शिक्षा प्राप्त करना मुश्किल है। ऑनलाइन शिक्षा दुर की बात है, यहा नेटवर्क की समस्याओं के कारण लोग आपातकालीन सेवाओं का लाभ नहीं उठा पा रहे हैं। कुछ समय पहले हीं, खोखरी गाँव में सांप के काटने से जिवलिबेन मोतीरामभाई नाम की एक महिला की मौत हो गई थी। नेटवर्क समस्या का एकमात्र कारण यह था कि आपातकालीन सेवा 108 एम्बुलेंस को कॉल नहीं किया जा सकता था और समय पर अस्पताल नहीं पहुंचने से महिला की मृत्यु हो गई।

जागरुक आदिवासी जन एकता संगठन ने क्षेत्र में नेटवर्क समस्या के समाधान के लिए कलेक्टर को एक आवेदन प्रस्तुत किया है। जिसके अनुसार, सुबीर तालुका के बरडीपाड़ा ग्रुप ग्राम पंचायत में शामिल खोखरी, बरडीपाड़ा, साजुपाडा, बंधपाड़ा, धुलदा के लोगों को आपातकालीन सेवाओं का लाभ नहीं मिलता है, क्योंकि इन 5 गांवों में नेटवर्क की समस्या है। वहीं, डिजिटल इंडिया से अलग-थलग इन गांवों के बच्चे कोरोना महामारी में ऑनलाइन शिक्षा नहीं ले पा रहे हैं।

यदि जल्द से जल्द समस्या का समाधान नहीं हुआ तो इस संगठन द्वारा आंदोलन किया जाएगा। उन्होंने कहा, “लोग भूख हड़ताल पर जाएंगे,” उन्होंने कहा कि निकट भविष्य में चुनावों का बहिष्कार किया जाएगा। डांग जिले में जल्द ही विधानसभा उपचुनाव होने वाले हैं और थोड़े समय के बाद स्थानीय स्वराज्य के चुनाव होने पर  स्थानीय नेताओं के लिए इस मुद्दे पर बारीकी से ध्यान देना आवश्यक हो गया है।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *