विधान परिषद में बोले सीएम नीतीश कुमार,बिहार में बाढ़ और कोरोना संक्रमण को लेकर सरकार पूरी तरह सजग।

ANIL KUMAR SONI / COORDINATOR BIHAR
अनिल कुमार सोनी / प्रभारी बिहार

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि कोरोना संक्रमण और बाढ़ पर सरकार पूरी तरह मुस्तैद है। इन दोनों को लेकर एक-एक आवश्यक इंतजाम किए जा रहे हैं। कोई ऐसा दिन नहीं होता, जब हम जिलों से और संबंधित विभाग के पदाधिकारियों से बात नहीं करते हैं। रोज एक-एक चीज की जानकारी ली जाती है और उस पर कार्रवाई होती है।


मुख्यमंत्री सोमवार को विधानसभा और विधान परिषद में कोरोना संक्रमण और बाढ़ को लेकर आयोजित वाद-विवाद के बाद अपनी बात रख रहे थे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले दिनों हम सभी बाढ़ प्रभावित जिलों से बात की और वहां का जायजा लिया। बाढ़ प्रभावित लोगों को जहां पर रखा गया है, उन राहत केंद्रों का अवलोगन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लिया। वहां रह रहे लोगों से भी बात की। एक-एक चीज को लेकर हमारी सरकार सजग और लोगों के सहयोग में लगी हुई है। इसी सप्ताह फिर हम समीक्षा करेंगे और एक-एक इंतजाम का जायजा लेंगे। 
10 दिनों में प्रभावित परिवारों को मुहैया कराई गई राशि
मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ प्रभावित दो लाख 64 हजार परिवारों के खाते में छह-छह हजार भेजे गए हैं। 10 दिनों के अंदर सभी प्रभावित परिवारों को राशि उपलब्ध करा दी जाएगी। आगे भी बाढ़ की आशंका है, इसको लेकर भी जिलों को सचेत रहने को कहा गया है। आगे भी जितनी राशि की जरूरत होगी, राज्य सरकार खर्च करेगी। हमारा मानना है कि राज्य सरकार के खजाने पर पहला अधिकार आपदा पीड़ितों का है। उन्होंने यह भी कहा कि 2007 से हमारी सरकार ने आपदा पीड़ितों की मदद के लिए एक मानक तय किया और उसके अनुसार मदद दी जाती है। सवालिया लहजे में कहा कि 2005 के पहले राज्य में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए क्या किए जाते थे, यह सबको मालूम है। 

राहत कैंप में हो रही जांच
मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ प्रभावितों को रहने के लिए बनाए गए राहत केंद्रों में भी सभी की कोरोना जांच कराई जा रही है। एंटीजन जांच की जा रही है, जिससे 15 मिनट में ही रिपोर्ट आ जाती है।  केंद्रों पर भी कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। संक्रमितों को इलाज के लिए कोविड केयर सेंटर भेजा जा रहा है। अगर हमलोगों ने वहां जांच की व्यवस्था नहीं रखती तो और भी लोगों में यह संक्रमण फैलता।
40 प्रतिशत अधिक बारिश हुई मुख्यमंत्री ने कहा कि जून और जुलाई में बारिश ने अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। अब तक इन महीनों में जो बारिश हुई थी, उससे 40 प्रतिशत अधिक बारिश इस साल हुई है। हमलोग निरंतर समीक्षा करते हैं। इसके बाद भी किसी भी जिले में किसी जनप्रतिनिधि को कोई कमी दिखाई दे तो वे सरकार को बताएं।

चुनाव पर फैसला आयोग करेगा मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान विधानसभा का यह आखिरी सत्र है। आप सभी को हमारी शुभकामना है। चुनाब जब होना होगा, वह तो होगा। यह आयोग तय करेगा, लेकिन राजनीति कार्यकर्ता नाते कर्तव्य है लोगों की सेवा करना और हम करते रहेंगे।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *