14 अगस्त को राजस्थान की जनता को मिलेगी गहलोत सरकार के कुशासन से मुक्ति : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

स्थानीय भाजपा कार्यालय में प्रेसवार्ता के दौरान कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने मांगा नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से इस्तीफा


की लाइन टाईम जिला मुख्य संवाददाता सरूप प्रजापत बाड़मेर

जैसलमेर। स्वर्णनगरी जैसलमेर इन दिनों प्रदेश के सियासी घमासान का अखाड़ा बना हुआ है। पिछले एक सप्ताह से ज्यादा समय हो गया है, जब राजस्थान की गहलोत सरकार जैसलमेर के सूर्यगढ़ और गोरबंध पैलेस होटल में ठहरी हुई है। इस बीच केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी भी अपने तीन दिवसीय जैसलमेर दौरे पर हैं। केंद्रीय मंत्री ने शुक्रवार को स्थानीय भाजपा कार्यालय में पत्रकार वार्ता के दौरान प्रदेश की कांग्रेस सरकार को जनता विरोधी बताते हुए कहा कि प्रदेश में जो वर्तमान हालात हैं, उसके लिए कांग्रेस और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुद जिम्मेदार हैं।

केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि प्रदेश का आमजन और किसान परेशान है। कोरोना का संकट और आपराधिक घटनाएं बढ़ रही है। दूसरी तरफ राजस्थान की कांग्रेस सरकार होटलों में कैद होकर बिरियानी खाने और स्विमिंग पूल की मौज-मस्ती में व्यस्त है। एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते जनता के दर्द को देखकर मन में दुःख होता है।

कृषि राज्यमंत्री चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस नेता बिना किसी तर्क और तथ्य के अपने घर की लड़ाई का ठीकरा भाजपा और राज्यपाल पर फोड़ रहे है। यह परंपरा निश्चित रूप से निंदनीय और चिंतनीय है। श्री कैलाश चौधरी ने कहा कि यह गहलोत और पायलट की आपसी लड़ाई है, जिसका खामियाजा राजस्थान की जनता भुगत रही है। परंतु कांग्रेस नेता इसका दोषारोपण भाजपा पर कर रहे है, लेकिन भाजपा का इससे कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि गहलोत अपने विधायकों का भरोसा खो चुके हैं, इसलिए उन्हें इस तरीके से कैद किया गया है।

केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा- ‘हम शक्ति परीक्षण की मांग नहीं कर रहे हैं, लेकिन उन्होंने जनमत खो दिया है और खुद ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। डेढ़ साल से ज्यादा समय बिता चुकी कांग्रेस सरकार ने अभी तक अपने घोषणापत्र का एक भी वादा पूरा नहीं किया है। न तो राहुल गांधी के खोखले वादे के मुताबिक किसानों का कर्ज माफ किया, न युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दिया और न ही टिड्डी संकट के समय केन्द्र सरकार की कोई मदद कर रही है।

केन्द्र सरकार ने रखीआत्मनिर्भर भारत की नींव : वहीं केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने केंद्र की मोदी सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि इन 6 वर्षों के कार्यकाल में न सिर्फ कई ऐतिहासिक गलतियों को सुधारा है बल्कि 6 दशक की खाई को पाट कर विकासपथ पर अग्रसर एक आत्मनिर्भर भारत की नींव भी रखी है। यह 6 वर्ष का कार्यकाल ‘गरीब कल्याण व रिफ़ार्म’ के समांतर समन्वय की एक अभूतपूर्व मिसाल है।’ चौधरी ने कहा कि
प्रधानमंत्री मोदी पर भारत की जनता का जो अटूट विश्वास है वैसा देश की जनता का अपने नेतृत्व में विश्वास दुनिया में विरले ही देखने को मिलता है।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *