सुशांत केस की CBI जांच: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सीएम नीतीश का बयान, ये न्याय की जीत है।

अनिल कुमार सोनी / प्रभारी बिहार

बिहार :- मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ट्वीट किया है कि उच्चतम न्यायालय द्वारा फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के पिता द्वारा पटना में दर्ज कराए गए मामले पर बिहार पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई एवं बिहार सरकार द्वारा इस मामले को सीबीआई को सौंपने के निर्णय को विधि सम्मत एवं उचित बताया गया है।
मुख्यमंत्री ने यह भी कहा है कि कुछ लोग इसे राजनीतिक रूप देना चाह रहे थे, जबकि राज्य सरकार का मानना था कि इसका संबंध न्याय से है। मुझे भरोसा है कि सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद सीबीआई यथाशीघ्र इस मामले की जांच करेगी और शीघ्र ही न्याय मिलेगा।

सीएम ने कहा कि, सुशांत के पिता द्वारा पटना में एफआईआर दर्ज कराने के बाद, सरकार ने बिना समय गंवाए जरूरी कदम उठाए और जो उचित था, वही किया गया। उन्होंने कहा कि, अब पीड़ित परिवार को न्याय मिल सकेगा। साथ ही, सर्वोच्च न्यायालय के आदेश से बिहार सहित राज्य के बाहर के लोगों में भारी खुशी और उत्साह है।
नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार सरकार और पूरा देश इस वक्त सुशांत के परिजनों के दुख में शामिल है। सीएम ने कहा कि उम्मीद है कि सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अब मुंबई पुलिस सीबीआई जांच में सहयोग करेगी। सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत की सीबीआई जांच के आदेश दिए और मुंबई पुलिस को इस मामले में अब तक एकत्र किए गए सभी साक्ष्य सीबीआई को सौंपने को कहा है।
वहीं बिहार के डीजीपी ने भी कहा है कि अन्याय के खिलाफ न्याय की जीत हुई। यह बड़ा फैसला है। बिहार पुलिस की कार्रवाई सही थी, इस पर भी मुहर लग गई है। मुंबई पुलिस ने इस मामले में आजतक एफआईआर दर्ज नहीं की है। जब हमने इसकी जांच शुरू की तो बिहार पुलिस के साथ क्या हुआ इसे सभी लोगों ने देखा। सीबीआई को केस सौंपे जाने से पूरा विश्वास है कि न्याय मिलेगा।
तेजस्वी बोले- सड़क से लेकर सदन तक सबसे पहले हमने
उठाई सीबीआई जांच की मांग नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी प्रसाद यादव ने बुधवार को ट्वीट करते हुए कहा कि सबसे पहले सुशांत केस में हमने सड़क से लेकर सदन तक सीबीआई जांच की मांग की थी और उसी का परिणाम था कि 40 दिनों से सो रही बिहार सरकार को कुंभकर्णी नींद से जागना पड़ा था।
आशा है एक तय समय सीमा के अंदर न्याय मिलेगा। बता दें कि सुशांत सिंह केस की जांच को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने फैसला दिया है।
कोर्ट ने केस की जांच का अधिकार सीबीआई को दे दिया है। सुशांत का परिवार और उनके फैंस सीबीआई जांच की लंबे समय से मांग कर रहे थे। सुप्रीम कोर्ट ने बिहार में दर्ज FIR को भी सही ठहराया है। 
अब राज्य सरकार टांग नहीं अड़ा सकती
सुशांत सिंह केस में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद स्पष्ट हो गया कि अब सीबीआई को महाराष्ट्र सरकार से जांच की इजाजत नहीं लेनी होगी। सीबीआई चाहे बिहार से लेकर मुंबई तक किसी से भी पूछताछ कर सकती है। बिहार पुलिस को जिन बाधाओं का सामना करना पड़ा, सीबीआई को यह नहीं झेलना पड़ेगा। 
कोर्ट के फैसले से किसे झटका 
सुशांत सिंह मौत मामले में सुप्रीम कोर्ट के सीबीआई जांच के फैसले से महाराष्ट्र सरकार, मुंबई पुलिस और रिया चक्रवर्ती को बड़ा झटका लगा है। महाराष्ट्र सरकार और मुंबई पुलिस शुरू से ही सीबीआई जांच का विरोध कर रही थी, वहीं रिया पटना में दर्ज एफआईआर को मुंबई ट्रांसफर करवाना चाहती थीं।
अब नए सिरे से सीबीआई करेगी जांच
सुप्रीम कोर्ट से हरी झंडी मिलने के बाद सीबीआई सुशांत सिंह मौत मामले की नए सिरे से जांच करेगी। हालांकि, मुंबई पुलिस और बिहार पुलिस द्वारा अब तक जांच किए गए दस्तावेजों का भी मुआयना करेगी। सीबीआई घटनास्थल पर जाएगी और हर गवाह से पूछताछ करेगी।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *