रेहड़ी-फेरी वालों को मोदी सरकार दे रही है दस-दस हजार का लोन : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि एक वर्ष तक की अवधि के लिए लगभग शून्य ब्याज दर पर दिए जाने वाले ऋण से छोटे व्यापारी एवं मजदूर वर्ग को मिल रही हैं बड़ी राहत

दिल्ली/जयपुर/बाडमेर
केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश ने कहा कि मोदी सरकार की प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में प्राप्त हुए 7.33 लाख आवेदनों में से में 1.74 लाख से अधिक लोगों को 173.52 करोड़ रुपये का ऋण वितरित किया जा चुका है। केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि इस योजना के तहत लगभग शून्य ब्याज दर पर प्रत्येक रेहडी, ठेली और फेरी लगाकर सामान बेचने वालों को दस-दस हजार रुपये का लोन दिया जा रहा है। इसे चुकाने के लिए भी एक वर्ष का समय मिलेगा। चौधरी ने कहा कि कोरोना काल से प्रभावित हुए छोटे व्यापारी एवं मजदूर वर्ग को इससे बड़ी राहत मिल रही है।

कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वनिधि योजना को शुरू करने के फैसले से देश के रेहड़ी और पटरी वालों (छोटे सड़क विक्रेताओं) को अपना खुद का काम नए सिरे से शुरू करने में मदद मिलेगी। इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा 10000 रूपये तक का लोन मुहैया कराया जा रहा है। देश में ग्रामीण और शहरी सड़को के किनारे स्‍ट्रीट वेंडर जो फल, सब्जियाँ बेचते हैं या रेहड़ी पर छोटी-मोटी दुकान लगाते हैं। वे इस प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा 10000 रूपये का लोन प्राप्त करके लाभ उठा सकते है।

केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि सरकार द्वारा दिया गया यह ऋण रेहड़ी पटरी वालों को एक साल के भीतर किस्त में लौटना होगा। इस लोन को समय पर चुकाने वाले स्ट्रीट वेंडर्स को सात फीसद का वार्षिक ब्याज सब्सिडी के तौर पर उनके अकाउंट में सरकार की ओर से ट्रांसफर किया जाएगा। कैलाश चौधरी ने कहा कि जो इच्छुक लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है।उन्हें इस योजना के तहत आवेदन करना होगा। चौधरी ने कहा कि स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर निधि के अंतर्गत विभिन्न क्षेत्रों में वेंडर, हॉकर, ठेले वाले, रेहड़ी वाले, ठेली फलवाले आदि सहित 50 लाख से अधिक लोगों को योजना से लाभ प्रदान किया जायेगा।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *