विधुत विभाग की लापरवाही व मनमानी के चलते बच्चे दिपक की रोशनी से पढ़ने को मजबूर

शिकायतकर्ता की शिकायत से नाराज विभाग ने उनकी लाईन जानबूझकर रखा वंचित

अमर यादव@बालेसर जोधपुर

जोधपुर/बालेसर। शेरगढ उपखण्ड की ग्राम पंचायत रामनगर मे बेनानी मेघवालो की ढाणीयो मे 15 साल पहले राजीव गांधी ग्रामीण विधुतीकरण योजना के तहत् जुंजाराम बोस की ढाणी के पास लगे ट्राँसफार्मर से 20 परिवारो को घरेलू विधुत कनेक्शन से जोड़ा गया था।
जिसकी सप्लाई लाईन पुरानी होने के चलते खराब होने से शुक्रवार को 20 घरो की विधुत सप्लाई ठप्प हो गई थी।जिसके बाद ग्रामीणो द्वारा विभाग को सूचित करने के बाद भी कार्मिको की लापरवाही व उदासीनता के चलते तीन दिन बाद रविवार को कार्मिक मौके पर आये और 10 परिवारो की सप्लाई लाईन ठीक करके सप्लाई सुचारु करके चले गये।और दस परिवारो की लाईन बिना बदले ही चले गये।जबकि बचे हुए दस परिवारो को सप्लाई से जोडने के लिये महज चार पोल की कैबल की जरुरत थी।लेकिन विभाग के कार्मिक शिकायत करने से नाराज होकर पांच पोल की सप्लाई लाईन दुसरी और जोडकर सिर्फ दो परिवारो को सप्लाई दी।और दस परिवारो को वंचित रखा।यह विभाग की लापरवाही कहे या मनमानी ।
इस प्रकार शिकायत करने से नाराज होकर किसी परिवारो को परेशान करना कहां तक उचित है।
ग्रामीण गोकलराम ने बताया कि सप्लाई लाईन खराब होने की शिकायत के तीन दिन बाद तो विभाग के कार्मिक आये और मनमाने ढंग से सप्लाई लाईन लगाकर चले गये।लाईनमेन को हमारे द्वारा पैसे नही देने पर हमारे घरो की सप्लाई लाईन नही जोडी।और सप्लाई ठप्प होने के तीन दिन बाद कार्मिक व ठेकेदार आये और मनमाने ढंग से दस घरो की सप्लाई लाईन बदलकर चले गये।हमने पूछा तो कहा कि आज कैबल कम ही लाये थे कल आकर कर देगे।लेकिन आज चौथे दिन भी वापस कोई नही आये।हमे आज चार दिन बाद भी अंधेरे मे रहने को मजबूर है।बच्चे दिपक की रोशनी से पढ़ने को मजबूर होना पड़ रहा है।आज चौथे दिन भी विभाग से सम्पर्क करने पर कैबल नही आई होने का बाहना बना रहे हैं।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *