कृषि विज्ञान केंद्र(KVK)बघई द्वारा आयोजित ‘पूर्व-खरीफ कार्यशाला’

– मनीष पालवा

गुजरात,आहवा-डांग:
दिनांक-3:डांग जिले में खरीफ फसल बोने की पूर्व तैयारी शुरू हो गई है। जिसको ध्यान में रखते ‘आजादी का अमृत महोत्सव’ के अवसर पर कृषि विज्ञान केंद्र, वघई (डांग) द्वारा हाल ही में PKVY योजना के तहत, बघई तालुका के दगुनिया गांव में “पूर्व खरीफ कार्यशाला” का आयोजन किया गया था।जिसमें डांग जिले में मानसूनी फसलों की जैविक खेती के तरीके के बारे में मार्गदर्शन दिया गया। केंद्र के वैज्ञानिक डॉ. पी.पी. जाविया द्वारा जैविक तरल उर्वरकों के साथ-साथ जैविक कवकनाशी के महत्व और उपयोगिता की समझ दी गई।केंद्र के वैज्ञानिक श्री एस.एन. चौधरी ने खरीफ फसलों के नियोजन एवं प्रबंधन के साथ-साथ मौसम आधारित खेती में होने वाले नुकसान को कम करने के लिए आवश्यक निर्देश दिए।वैज्ञानिक श्री जे.बी. डोबरिया ने खरीफ फसलों में बीज शोधन से लेकर कटाई तक जैविक वैज्ञानिक सिफारिशें कीं, नवसारी कृषि विश्वविद्यालय द्वारा मूल्यवर्धन के माध्यम से ऐसे जैविक उत्पादों का अच्छा मूल्य प्राप्त करने के लिए ई-मार्केटप्लेस पर पंजीकरण करने के लिए मार्गदर्शन प्रदान किया गया।

कार्यशाला में ट्राइकोडर के साथ आवश्यक फोल्डर वितरित कर किसान को इसके उपयोग की व्यावहारिक समझ भी प्रदान की गई। कार्यक्रम में शामिल किसान जैविक खेती के लिए प्रतिबद्ध थे। इस कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए के.वी.के. बघई की टीम द्वारा आयोजित किया गया था। KVK के प्रमुख डॉ. जी.जी. चौहान ने कार्यक्रम की सराहना की।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *