डांग जिले में 1000 एलपीएम की क्षमता वाला ऑक्सीजन प्लांट शुरू

– मनीष पालवा

गुजरात,आहवा-डांग:
दिनांक-4:’कोरोना’ की संभावित तीसरी लहर के खिलाफ अचूक हथियार के रूप में ‘टीकाकरण कार्यक्रम’ का दौरा करने वाले आदिवासी विकास मंत्री श्री गणपत सिंह वसावा ने कहा कि डांग जैसे आदिवासी बहुल जिले में भी अब ‘वैक्सीन’ को लेकर जागरूकता आ रही है. जो स्वास्थ्य कर्मियों के लिए काफी उत्साहजनक है।

डांग जिले के दौरे पर आए मंत्री ने आहवा के डांग दरबार हॉल में कार्यक्रम की मुलाकात के साथ आहवा सिविल अस्पताल में PM CARES फंड से ₹74 लाख से अधिक की अनुमानित लागत से तैयार 1000 LPM की क्षमता वाले ‘ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट’ का भी लोकार्पण किया।इस बीच, मंत्री ने सभी डांग निवासियों से अपने परिवारों के साथ वैक्सीन लेने का आग्रह किया, उम्मीद है कि 100 प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य के साथ आगे बढ़ें।

डांग जिले समेत आसपास के इलाकों के आदिवासी लोगों में ‘वैक्सीन’ को लेकर फैला अंधविश्वास आदिवासी लोग धीरे-धीरे अफवाहों से बाहर निकलकर ‘वैक्सीन’ ले रहे हैं।उन्होंने कहा कि इस संबंध में डांग जिले के स्वास्थ्य कर्मियों और जागरूक पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं समेत पूरे प्रशासन को विशेष बधाई दी है।

मंत्री श्री गणपत सिंह वसावा की उपस्थिति में आज डांग और गुजरात और देश की शान रहे अंतरराष्ट्रीय युवा धाविका श्री मुरली गावित ने 18+ वर्ग में ‘वैक्सीन की पहली खुराक’ लेकर युवाओं को विशेष रूप से प्रेरित किया है। उल्लेखनीय है कि मुरली गावित ने देश की ओर से और विदेशी धरती पर भी विभिन्न प्रतियोगिताओं में भाग लेकर दुनिया के सामने अपनी काबिलियत साबित की है।

मंत्री की उपस्थिति में आहवा के डांग दरबार हॉल में मुरली गावित के अलावा जिला पंचायत अध्यक्ष श्री मंगलभाई गावित ने भी वैक्सीन लेकर डांग के लोगों में वैक्सीन को लेकर फैली भ्रांतियों या अफवाहों को लेकर नजरअंदाज किया और संदेश भेजा कि वैक्सीन लेकर खुद को कोरोना से बचाएं।

मंत्री के दौरे के दौरान उनके साथ सांसद डॉ. के.सी. पटेल, विधायक श्री विजयभाई पटेल, संगठन पदाधिकारी श्रीमती सीताबेन नायक सहित पदाधिकारी, कलेक्टर श्री भाविन पंड्या, स्वास्थ्य विभाग के उच्चाधिकारियों आदि उपस्थित थे और अपनी भूमिका निभाई।

उल्लेखनीय है कि डांग जिले में अब तक लक्षित 2497 स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों में से 2147 (85.98 प्रतिशत), 5012 मे फ्रंटलाइन कार्यकर्ता में से 4975 (99.26 प्रतिशत), 58010 (45+) वरिष्ठ नागरिकों में से 30052 (51.80 प्रतिशत), और 116956(18 से 44 वर्ष) में से 11664 (9.97 प्रतिशत) मिलकर कुल 182475 पात्र नागरिकों में से 48838 (26.76 प्रतिशत) लोगों को टीका लगाया गया।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *