बिजनौर कलेक्ट्रेट में भारतीय किसान यूनियन लोकशक्ति की मासिक पंचायत आयोजित…मास्टर इंद्रजीत शर्मा, संभागीय संवाददाता, Key Line Times


आज दिनांक 20/07 /2021 को बिजनौर कलेक्ट्रेट में भारतीय किसान यूनियन लोकशक्ति की मासिक पंचायत आयोजित की गयी जिसमें भाकियू लोकशक्ति बिजनौर जिलाध्यक्ष चौधरी बीर सिंह सहरावत के नेतृत्व में भाकियू लोकशक्ति पदाधिकारी और कार्यकर्ता बिजनौर जिला मुख्यालय पर पहुंचे और किसानों की प्रमुख मांगो को लेकर जोरदार धरना प्रदर्शन किया। किसानों को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष चौधरी बीर सिंह सहरावत ने बताया कि तीनों काले कृषि कानूनों को वापिस कराने और एमएसपी को गारंटी कानून बनाने के लिए किसानों को दिल्ली की सड़कों पर आंदोलन करते हुए आठ महीने होने को है लेकिन सरकार किसानों की बात सुनने को भी तैयार नहीं है। भारत वर्ष की केन्द्र व राज्य सरकारें मिलकर किसानों का शोषण कर रहीं हैं। किसानों को ना तो उनकी फसल का उचित दाम मिलता और ना ही समय से भुगतान मिल पाता जिससे किसानों की आर्थिक स्थिति भी गंभीर बनी हुई है। खाद, दवाई, डीजल, पैट्रोल के दाम लगातार आसमान छू रहे हैं लेकिन किसानों को कोई भी राहत देने में सरकार नाकाम साबित हो रही है। जिस कारण आज देश भर का किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलन करने को बाध्य हैं। जिलाध्यक्ष चौधरी बीर सिंह सहरावत ने बताया कि किसान संघर्ष की मिसाल है।हम किसानों के हितों की रक्षा के लिए सदैव संघर्षरत रहेंगे। किसानों का शोषण कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उसके बाद किसानों के बीच पहुंचे उप जिलाधिकारी सदर बिजनौर विक्रमादित्य मलिक जी को किसानों की प्रमुख मांगो से अवगत कराया और किसानों की प्रमुख मांगो से सम्बंधित एक ज्ञापन सौंपा गया।
जिसमें किसानों की प्रमुख मांग-
1- तीनों काले कृषि कानूनों को रद्द किया जाए।
2-एमएसपी को गारंटी कानून बनाया जाए।
3- किसान आयोग का गठन किया जाए।
4-गन्ने का समस्त बकाया भुगतान ब्याज सहित अविलंब कराया जाए। और आगामी पिराई सत्र में गन्ने का भाव 500 रूपये /क्विंटल कराया जाए।
5-किसानों को कम दरों पर 24 घंटे बिजली उपलब्ध करायी जाए।
6-डीजल पैट्रोल के दाम कम किए जाए।
7-60 वर्ष से ऊपर के मजदूर व किसानों को 10 हजार रुपये मासिक पेंशन दी जाए।
8-आवारा पशुओं से किसानों व उनकी फसलों की सुरक्षा की व्यवस्था की जाए।
9-दुघर्टना होने पर सभी किसानों को बीमा योजना का लाभ मिलना चाहिए क्योंकि जिसके पास जमीन नहीं है उसको यह लाभ नहीं मिल पाता है जबकि किसान परिवारों के ज्यादातर सभी सदस्य खेती के काम करते हैं।
10-किसानों पर बैंकों का सम्पूर्ण कर्ज माफ किया जाए।
11-खादर क्षेत्र में गांगा जी के कटान को रोकने के लिए तटबंध बनाये जाए। आदि।
मासिक पंचायत में मुख्य रूप से जिलाध्यक्ष चौधरी बीर सिंह सहरावत, राष्ट्रीय महासचिव चौधरी पदम सिंह, सतबीर सिंह, रामकुमार सिंह, अम्बरीष चौधरी, विजय पहलवान, शीशपाल सिंह, भूपेंद्र सिंह, योगेंद्र सिंह काकरान, गजराज सिंह, कमल सिंह, योगेंद्र सिंह भोले, नरेश कुमार, मनीष चौधरी,जोगेंद्र सिंह, विनीत कुमार, गौरव चौधरी, राजवीर सिंह,अर्जुन सिंह, नौबहार सिंह। सहित बड़ी संख्या में भाकियू लोकशक्ति पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे।
भारतीय किसान यूनियन लोकशक्ति बिजनौर

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *