सोलंकियातला में रीको को लेकर प्रतिष्ठान बंद रख कर किया विरोध प्रदर्शन।

रिपोर्ट @ दुर्जनराम धांधल

सोलंकियातला। सोलंकियातला में सोमवार को सोलंकियातला सहित देवराजगढ़, बापू नगर व पदमगढ़ चारों पंचायत के ग्रामीण एक राय हो करके हाल ही में सोलंकियातला की गोचर भूमि पर रीको औद्योगिक क्षेत्र घोषित करने पर ग्रामीणों ने प्रतिष्ठान बंद रख सोलंकियातला मठ शीतल भारती की समाधि के पास एकत्रित होकर विरोध प्रदर्शन किया। ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि सोलंकियातला में 1123 बीघा जमीन पूर्वजों द्वारा गायों के हित दान की गई है। जिस पर किसी का कब्जा नहीं होने देंगे।

जिसको लेकर सोमवार को सोलंकियातला, देवराजगढ़, पदमगढ़ और बापूनगर के सैकड़ों की तादाद में ग्रामीण सोलंकियातला में एकत्रित होकर रीको स्थापित होने का विरोध किया। जिस पर ग्रामीणों की मंशा के अनुसार चारों ग्राम पंचायतों के सरपंच, पंचायत समिति सदस्य एवं मौजिज लोगों द्वारा रीको का खुलकर विरोध किया गया एवं सहमती जताई कि जल्द ही कानूनी कार्रवाई कर सोलंकियातला की गोचर भूमि पर रीको स्थापना को रोकाया जाएगा। साथ ही जल्द ही कमेटी बनाकर सोलंकियातला की गोचर भूमि की पैमाइश करवा कर पत्थरगढ्ढी भी करवा दी जाएगी। ताकी गोचर भूमि पर कोई किसी प्रकार का अतिक्रमण ना हो सके।
इस दौरान सोलंकियातला मठाधीश प्रेमभारती, शिवसिंह, सवाईसिंह भिखसिंह, जबरसिंह, कंवराजसिंह, रामसिंह, चंदनसिंह, इंदरसिंह, खेतसिंह, गुलाबसिंह, गंगासिंह राजपुरोहित, जुगतसिंह, कुंभाराम सुथार (पंचायत समिति सदस्य) विजयकुमार दर्जी, मांगूराम भील, हरीचंद खत्री, जबरसिंह राजपुरोहित, मिश्रीमल छाजेड़, गौतम सोनी, शिवानाथ जोगी, सुरताराम सांसी, चनणाराम नाई, सरूपाराम प्रजापत, किशनाराम मेघवाल, इमामुद्दीन, राजूदास संत, आसूराम जोशी सहित सैकड़ों की संख्या में ग्रामीण मौजूद रहे।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *