आदिवासी दिवस पर गुजरात के डांग जिले मे रैली का आयोजन.. सुभाष पंवार, डांग

डांग,गुजरात,आदिवासी समाज द्वारा 9 अगस्त विश्व आदिवासी दिवस पर आज डांग जिले के मुख्यालय अहवा में भव्य रैली का आयोजन किया गया.आदिवासी दिवस भगवान बिरसा मुंडा के नारों के साथ भव्य तरीके से मनाया गया।आहवा में फुवारे सर्कल का नाम बदलकर भगवान बिरसा मुंडा सर्कल कर दिया गया।
इस उत्सव में डांग जिले के मुख्यालय अहवा में आदिवासियों के मान सम्मान और गौरव के साथ हजारों आदिवासी भाइयों और बहनों ने भाग लिया. डांग जिले के तीनों तालुकों में जय जोहर जय आदिवासी के नारे के साथ समारोह आयोजित किए गए। इस त्यौहार में आदिवासियों की संस्कृति, सभ्यता और रीति-रिवाजों को उनके डांगी नुत्या के माध्यम से दिखाया जाता है।चूंकि डांग जिले के 98 प्रतिशत आदिवासी हैं, इस जिले की भाषा शैली भी अलग है।
“जय आदिवासी
माला गर्व अहा, का मा आदिवासी आह…!!
माला मांणि डांगीसंस्कृति, माने डांग नी भूमि ..
आदिवासी भाइयों पर विश्वास हा।
बधा सा प्रेमाल स्वभाव वर गौरव आहा…!!
जय आदिवासी
जय जौहार “_बाबूराव चौर्या
जब नौ तारीख को विश्व आदिवासी दिवस मनाया गया तो यहां आदिवासियों के मूल अधिकारों का भी उल्लेख किया गया है। उनके अधिकार मुख्य रूप से जल, जंगल और भूमि से संबंधित हैं।आदिवासी स्वयं अपनी संस्कृति को न भूलें, इसी लिए भी यह पर्व में अपनी संस्कृति को अलग अलग नूत्य कलाओसे दिखाया जाता है ।
डांग जिले के विधायक विजयभाई पटेल ने इस पर्व पर आदिवासी देवता बिरसा मुंडा को श्रद्धांजलि देते हुए । उन्होंने कामना की कि उनका समाज जाग्रत होकर समाज के लिए आगे आए और आदिवासियों को मान, सम्मान और गौरव की इस पर्व पर शुभकामनाएं दीं। इस उत्सव में जिला कलेक्टर भाविन पंड्या, डांग जिला पंचायत अध्यक्ष मंगलभाई गावित, दशरथभाई पवार जैसे आदिवासी नेताओं ने भाग लिया।
सुभाष पवार

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published.