पेयजल समस्या से जूझ रहे ग्रामीणों की खुली चेतावनी

झूठे आश्वासनों की बजाय हमे पेयजल की समस्या का स्थाई समाधान चाहिए

केरू 12 मील स्थित भीलो और बेलदारो की बस्ती के बाशिंदे इन दिनों भारी पेयजल समस्या से गुजर रहे हैं!

ब्यूरो चीफ अमर यादव

जोधपुर/राजस्थान। नेताजी को गरीबों की झुंगी-झोपडी़ चुनाव के नजदीक आते ही याद आती है, एयर कंडीशन की ठण्डी हवा को छोड़कर वोट के खातिर नेताजी इनदिनो लग्जरी गाड़ियों में सवार होकर सफेद झकास कुर्ता-पायजामा पहने हुए गरीबों की बस्तियों बुड्ढे-बुढ़ियाओं के पैर छूकर आशीर्वाद लेकर गरीबों का दिल जीतकर वोट बटोरते फिर रहे हैं, गरीबों को बड़े-बड़े ख्वाब दिखाकर सिर्फ वोट हथियाने में ही नेताजी अपनी भलाई समझते हैं, भला जीत के बाद इन गरीबो की झुग्गी झोपड़ियों की तरफ वापस मुड़कर भी नहीं देखते हैं।
हम बात कर रहे हैं जोधपुर जैसलमेर नेशनल हाईवे 125 पर स्थित केरू ग्राम पंचायत की बारह मील भीलो एवं बेलदारो की बस्ती की,यह बस्ती आजादी के 72 साल बाद भी पेयजल जैसी मूलभूत सुविधा की मौहताज है, बस्ती के बाशिंदे इन दिनों तपती गर्मी में भारी पेयजल समस्या से जूझ रहे है,पीने के पानी की भयंकर समस्या को लेकर बस्ती के लौग पिछले दो दिन से धरने पर बैठे है,महिलाए खाली मट्टकिया लेकर धरना स्थल पर पहुची तो बच्चे एवं पुरुष बकायदा हाथो मे बडे़-बडे़ बैनर लेकर प्रदर्शन करने पहुचे, इन बडे़ बडे़ बैनरो पर नेताओ को चेतावनी के लिए साफ-साफ अक्षरो मे लिखा हुआ है की जो हमारे पीने के पानी की मांग पूरी करेगा,हम इस बार उसी को वोट करेंगे,जो हमारे घरों के लिए स्थाई पानी का बंदोबस्त नहीं कर सकता है वे नेता कृपया मेहरबानी करके हमारी बस्ती में वोट मांगने नही आए। देखा जाय तो इस बस्ती के अधिकतर लौग दिहाड़ी मजदूर है जो हर रोज अपने दो जून की रोटी की तलाश में रोजगार के लिए दर-दर की ठोकर खाते हुए भटकने को मजबूर है जैसे तैसे करके अपने परिवार के लिए दो जून की रोटी का जुगाड़ करते हैं,इन दिनों क्षेत्र में पड़ रही भयंकर गर्मी मे यह लोग भयंकर पेयजल की समस्या से जूझ रहे हैं,मजबूरन पैसे देकर पीने को पानी डलवाना पड़ रहा है,क्षेत्र में लगातार अकाल की वजह से जल के स्रोत नदी,नाला नाडी-तालाब एंव बावड़ीया इन दिनों सुखी पड़ी है, पेयजल समस्या को लेकर ग्रामीणो के धरना प्रदर्शन को देख कर बकायदा आश्वासन देने के लिए जलदाय विभाग के आलाअधिकारी मौके पहुंचे,लेकिन पानी की समस्या के स्थाई समाधान की बजाय आज भी इन्हे सिर्फ आश्वासन ही मिला, पेयजल समस्या से जूझ रहे ग्राम वासियों ने बताया कि जो नेता इस बार हमारी पेयजल की समस्या का स्थाई समाधान करेगा हम उसी को वोट करेंगे वरना मतदान के दौरान हम नोटा का खुलकर प्रयोग करेंगे।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *