घंटियाली की बिटिया कलेक्टर बनने के बाद पहली बार पैतृक गांव पहुंची

गांव वालों ने किया जोरदार स्वागत

रामदेव सजनाणी की रिपोर्ट

घंटियाली की बिटिया नम्रता जैन कलेक्टर बनने के बाद रविवार को पहली बार अपने पैतृक गांव घंटियाली पहुंची । परशुराम सेना मंडल प्रभारी डुंगर पंचारिया ने बताया कि नम्रता जैन वर्तमान में अपने पिता झबरचन्द जैन के साथ दंतेवाड़ा छत्तीसगढ़ कारोबार के चलते वँहा निवास करती है वंही पढाई करते हुए 2018 में यूपीएससी की परीक्षा में पूरे भारत मे उन्होंने 12 वीं रैंक हासिल करते हुए कलेक्टर बनने का सपना साकार करते हुए परिवार व गांव का नाम रोशन किया । कलेक्टर बनने के बाद पहली बार नम्रता जैन अपने माता पिता व चाचा प्रकाशचंद के साथ पैतृक गांव घंटियाली पहुंची जँहा पर मुख्य चौराहे पहुंचते ही ग्रामीणों ने ढोल नगाड़ों के साथ वँहा से घर तक पैदल चले तथा घर के मुख्य गैट पर परिवारजनों द्वारा तिलक लगाकर व आरती उतारकर घर मे प्रवेश करवाया तथा सर्वप्रथम पूर्व सरपंच जसवंतसिंह राठौड़ द्वारा माला व दुपट्टा ओढाकर स्वागत किया तथा उसके बाद सभी परिवारजनों द्वारा बारी बारी से माला पहनाकर भव्य स्वागत किया गया । तथा सभी ग्रामीणों को चाय नाश्ता करवाया गया तथा जैन ने कहा कि हमारा घंटियाली में पैतृक मकान व जमीन है तथा गांव से मेरे व मेरे माता पिता का बहुत लगाव है तथा आगे भी हर समय मदद को तैयार रहूंगी ग्रामीणों से गांव के बारे में चर्चा की । तथा इस मौके पर सरपंच सुश्री भँवर कँवर, पूर्व सरपँच जसवंतसिंह राठौड़, देवीसिंह, जेठमल जैन, राणुलाल, गुलाबचंद, केसरीचंद, नगराज, प्रकाशचन्द, बाबूलाल, मनोहरलाल, प्रेमचंद जैन,सुमेरमल, कुम्भाराम गोयल, मोती जैन , सवाई सैन, भूराराम चौधरी, आसूसिंह, अध्यापक हीरालाल चौधरी, सन्तोष शर्मा, अशोक जैन प्रकाश शर्मा रेंवतराम बिरठ, मांगीलाल आदि सैकड़ों ग्रामीण मौजूद थे।

Share this news:

2 thoughts on “घंटियाली की बिटिया कलेक्टर बनने के बाद पहली बार पैतृक गांव पहुंची

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *