पर्यावरण बचायें, नीम और पीपल का पेड लगायें

कमल जैन जयपुर, स्वास्थ्य चर्चाKey line timesKeylinetimes.comनीम-पीपल और बरगद के पेड लगाये पर्यावरण को बचायेंपीपल, बरगद और नीम के वृक्ष घने छायादार और पर्यावरण को संतुलित रखते है। इनसे हमें स्वच्छ हवा, छाया और भूजलस्तर बढाने में मदद मिलती है।पीपल कार्बन डाई ऑक्साइड का 100% एबजार्बर है, बरगद 80% और नीम 75 %पिछले 68 सालों में पीपल, बरगद और नीम के पेडों को सरकारी स्तर पर लगाना बन्द किया गया है और हम लोगों ने भी सीमेंट कंक्रीट के युग में इन्हें लगाना छोड़ दिया है। आज हर जगह यूकेलिप्टस, गुलमोहर और अन्य सजावटी पेड़ो ने ले ली है। अब सरकार ने भी इन पेड़ों से दूरी बना ली तथा इसके बदले विदेशी यूकेलिप्टस को लगाना शुरू कर दिया जो जमीन को जल विहीन कर देता है।जब वायुमण्डल में रिफ्रेशर ही नही रहेगा तो गर्मी तो बढ़ेगी ही और जब गर्मी बढ़ेगी तो जल भाप बनकर उड़ेगा ही ।पीपल के पत्ते का फलक अधिक और डंठल पतला होता है, जिसकी वजह शांत मौसम में भी पत्ते हिलते रहते हैं और स्वच्छ ऑक्सीजन देते रहते हैं। वैसे भी पीपल को वृक्षों का राजा कहते है। हर 500 मीटर की दूरी पर एक पीपल ,नीम और बरगद के पेड़ लगाये तो आने वाले कुछ सालों मे ही प्रदूषण मुक्त हिन्दुस्तान होगा करने योग्य कार्यइन जीवनदायी पेड़ों को ज्यादा से ज्यादा लगायें तथा यूकेलिप्टस पर बैन लगाया जायेआइये हम सब मिलकर अपने “हिंदुस्तान” को प्राकृतिक आपदाओं से बचाएँ

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *