20 से 30 फीसदी तक महंगे हुए फल, न्यूजीलैंड व वाशिंगटन सेब के भाव 150 के करीब

कि लाईन टाईम ब्यूरो चीफ जैसलमेर
गणेश जैन फलसूण्ङ

दिनभर भूखे प्यासे रहने के बाद शरीर में पानी की कमी नहीं रहे इसके लिए इफ्तार के दाैरान फलाें में खरबूज, तरबूज अाैर पपीता सबसे ज्यादा पसंद किया जा रहा है। रमजान में फलाें की खपत बढ़ने से पिछले दाे हफ्ते में थाेक अाैर रिटेल दामाें में 20 से 30 फीसदी तक की तेजी आई है। खरबूज ओर तरबूज के अलावा ज्यादातर फल दूसरे राज्याें से आयात किए जा रहे हैं। सेब ओर हाफुस आम के दाम 100 रुपए के पार चले गए। फल विक्रेताअाें के अनुसार रमजान के साथ-साथ गर्मी के चलते भी भावाें में इजाफा हुआ है। रमजान का सीजन 5 जून तक हाेने के कारण खपत में बढ़ेगी, इससे दाम ओर बढ़ने की संभावना है।

पानी की कमी काे दूर करता है तरबूज

इफ्तार में एनर्जी से भरपूर खजूर के साथ-साथ फलाें में खरबूज, तरबूज अाैर पपीता काे पसंद करने के पीछे कारण है कि खरबूज अाैर तरबूज शरीर में पानी की कमी काे दूर करता है। एेसे में इफ्तार के वक्त ये दाेनाें फल सबसे ज्यादा काम में लिए जा रहे हैं। हाजमा दुरुस्त रखने वाला पपीता राेजेदार की पसंद में है। इसके अलावा केला ओर आम भी उपयाेग लिया रहा है।

आम व केले की आवक महाराष्ट्र से

सब्जी एवं फल विक्रेता निसार ने बताया कि सफेदा आम हैदराबाद, हाफुस आम ओर केला महाराष्ट्र, पपीता गुजरात, सेब वाशिंगटन अाैर न्यूजीलैंड से आ रहे हैं। रमजान के महीने में मांग के मुताबिक कई फलाें की आवक भी कम है।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *