राजस्थान की यूनिवर्सिटीयों में आनलाईन होगा प्रवेश

सरुपाराम प्रजापत, जिला मुख्य संवाददाता, बाडमेर

Key line times

महाविद्यालयों में ऑनलाईन प्रवेश, शिविरा की तर्ज पर ‘आकाशी’ कैलेण्डर
-प्रदेश के राजकीय महाविद्यालयों में शिक्षण कार्य 1 जुलाई से
बाड़मेर, 24 मई। प्रदेश में शैक्षणिक सत्र 2019-20 के अंतर्गत राज्य के राजकीय महाविद्यालयो में आगामी एक जुलाई से शिक्षण कार्य प्रारंभ होगा।
कॉलेज शिक्षा आयुक्त प्रदीप कुमार बोरड़ ने बताया कि महाविद्यालयों में ऑनलाईन प्रवेश कार्यक्रम जारी किया गया है। इसके अंतर्गत राजकीय महाविद्यालयों में ऑनलाईन प्रवेश आवेदन पत्र भरने की तिथि एक जून से 15 जून रखी गयी है। वरीयता एवं प्रतीक्षा सूची का प्रकाशन 18 जून को किया जाएगा। अभ्यार्थी इसी आधार पर ई-मित्र कियोस्क पर 25 जून तक निर्धारित शुल्क जमा करा सकेंगे। महाविद्यालयों में प्रवेशित विद्यार्थियों की सूची का प्रकाशन 26 जून को किया जाएगा। उन्होने बताया कि प्रदेश के महाविद्यालयों का इस बार शिविरो की तर्ज पर ‘आकाशी’ नाम से कैलेण्डर भी जारी किया जा रहा है। इसमें कॉलेजों में माहवार पढ़ाए जाने पाठ्यक्रम के विषयवार टॉपिक भी बताए जाएंगे। इसी आधार पर विद्यार्थियों की मासिक परीक्षाएं भी आयोजित की जाएगी। इनमें जो विद्यार्थी अच्छा प्रदर्शन करेंगे, उन्हें प्रोत्साहित किया जाएगा। बोरड़ ने बताया कि आयुक्तालय की ओर से ‘आकाशि’ कैलेण्डर जारी करने का उद्देश्य यही है कि कॉलेजों में एकेडमिक वातावरण को बढ़ावा मिले। महाविद्यालयों में शैक्षणिक गुणवत्ता में वृद्धि हो।

पद्म पुरस्कारों के लिए आवेदन आमंत्रित

Keylinetimes.com
बाड़मेर, 24 मई। केन्द्र सरकार की ओर से पद्म पुरस्कारों वर्ष 2020 के लिए नामांकन प्रस्ताव ऑनलाइन माध्यम से आमन्त्रित किए जा रहे है। इसकी अंतिम तिथि केन्द्र सरकार की ओर से 15 सितम्बर 2019 तय की गई है।
शासन सचिव, मण्डल सचिवालय राजेश शर्मा ने बताया कि केन्द्र सरकार के दिशा निर्देश के अनुरूप पद्म पुरस्कारों के लिए आवेदन ऑनलाइन वेबसाइट www.padmaawards.gov.in के माध्यम से ही किया जा सकेगा। इस वेबसाइट से निर्धारित पात्रता और मापदंड की जानकारी भी प्राप्त की जा सकती है। इन पुरस्कारों के लिए योग्य व्यक्ति अपना नामांकन प्रस्ताव ऑनलाइन निर्धारित प्रपत्र में संबधित जिला कलेक्टर की अनुशंसा के साथ 31 अगस्त, 2019 तक जमा कर सकते है। साथ ही आवेदक को आवेदन की सॉॅफ्ट एवं हार्ड कॉपी मंत्रीमण्डल सचिवालय में भी जमा करानी होगी। ताकि राज्य सरकार की ओर से अपनी अनुशंसा निर्धारित तिथि तक केन्द्र सरकार को भिजवायी जा सके। उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा प्रत्येक वर्ष गणतन्त्र दिवस के अवसर पर पद्म पुरस्कार श्रृखंला के तहत पद्म विभूषण, पद्म भूषण एवं पद्म श्री पुरस्कार प्रदान किए जाते है। यह पुरस्कार विभिन्न क्षेत्रों में असाधारण एवं उत्कृष्ट उपलब्ध्यिों एवं सेवाओं के लिए दिए जाते हैं। इनमें कला, साहित्य और शिक्षा, खेल, औषधि, सामाजिक कार्य, विज्ञान, अभियांत्रिकी, सार्वजनिक मामलों, नागरिक सेवा, व्यापार एवं उद्योग आदि क्षेत्र शामिल हैं।

Keylinetimes.com

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *