कानपुर सैंट्रल रेलवे स्टेशन पर दूषित पेयजल का बडे स्तर पर अवैध कारोबार

ब्यूरो चीफ दिलशाद अहमद क्राइम रिपोर्टर मोहम्मद उमर

Key line times

कानपुर सेंट्रल में पूरी तरह नाकाम हुआ अधिकारी नही रोक पा रहा अवैध पानी का करोबार

Keylinetimes.com

कानपुर सेंट्रल रेलवे
इस देश की विडम्बना है कि इस देश में चाहे जिसकी भी सरकार आ जाये पर भ्रष्टाचार खत्म कर पाना नामुमकिन सा हो गया है सरकार की मंशा पर तो सवाल नही उठता यहां सवाल केंद्र सरकार के रेलवे विभाग पर लगातार उठता है जहां के अधिकारी कर्मचारी लगभग भ्रष्टाचार में लिप्त है।
चलती ट्रेनों के शौचालयों में विषाक्त भोजन मिलना अवैध और प्रतिबंधित पानी की बोतल मिलना टैक्स चोरी करते लाखों की विदेशी सुपाड़ी के बोरे मिलना ट्रेनों में रेवडी कम्पट बिकना कानपुर के गंगा पुल पर ट्रेन रोककर अवैध वेंडरों कों ट्रेनों में चढ़ाना और अन्य कई अवैध काम है जो निरंतर हो रहें है और समय समय पर इनकी खबरें भी विभिन्न समाचारों चैनलों और पोर्टलों द्वारा प्रसारित होती रहती है पर कानपुर सेंट्रल सहित किसी भी अधिकारी में इनपर कार्यवाही करनें की क्षमता का विकास नही हो पा रहा है। ऎसे में हम केवल सरकार कों दोषी नही कह सकते कहीं न कहीं ये अधिकारी भी दोषी है तभी तो वेंडरों और दलालों के हौसले बुलंदी पर है।

हेल्थ प्लस जोवियल जैसे नामों की बोतल बेतहाशा बिक रही है।

रेलवे नियम के अनुसार रेलवे में केवल रेल नीर नाम का ब्रांड की बोतल ही बिकनी चाहिये पर ऎसा हो नही पा रहा मोटी कमाई के लियें रेलवे अधिकारियों की मिलीभगत से कानपुर सेंट्रल में हेल्थ प्लस जॉवियल और न जाने किन किन नाम के ब्रांड की बोतलें बेची जा रही है जबकि ये रेलवे मानक के विपरीत है और ये बोतलें एक दो गत्ते नही सैकड़ों गत्ते ट्रालियों में रखकर खुले आम सुरंग के रास्ते प्लेट फार्म में पहुंचाई जा रही है ।

Keylinetimes.com

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *