80% बिमारियों का आर्युवेदिक इलाज

कमल जैन,जयपुर

Key line times

भोजन संबंधी नियम

भोजन के साथ दो नींबू का रस जरूर ले, पानी में मिला कर पीयें या भोजन में निचोड़ ल़े। 80% बीमारियों से बचे रहेंगे ।
आयुर्वेदिक दवा खाली पेट खाई जाती है और दवा खाने से आधे घंटे के अंदर कुछ खाना अति आवश्यक होता है, नहीं तो दवा की गरमी आपको बेचैन कर देगी।

एक साथ नहीं खायें

चाय और नमकीन
दूध और नमक,मछली इससे (सफ़ेद दाग (ल्युकोर्डमा) या किसी भी चर्मरोग हो सकता है । बाल असमय सफ़ेद होना या बाल झड़ना भी स्किन डीजीज ही है)
दूध या दूध की बनी किसी भी चीज और दही ,नमक, इमली, खरबूजा,बेल, नारियल, मूली, तोरई,तिल ,तेल, कुल्थी, सत्तू, खटाई
दही और खरबूजा, पनीर, दूध और खीर
गर्म जल और शहद,
ठंडा जल और घी, तेल, खरबूज, अमरूद, ककड़ी, खीरा, जामुन, मूंगफली
,शहद ओर मूली , अंगूर, गरम खाद्य या गर्म जल
खीर और सत्तू, शराब, खटाई, खिचड़ी , कटहल
घी और शहद
तरबूज और पुदीना या ठंडा पानी
चाय और ककड़ी खीरा
खरबूज और दूध, दही, लहसून और मूली

एक साथ खायें

खरबूजे और चीनी
इमली और गुड
गाजर और मेथी का साग
बथुआ और दही का रायता
मकई और मट्ठा
अमरुद और सौंफ
तरबूज और गुड
मूली और मूली के पत्ते
अनाज या दाल और दूध या दही
आम और गाय का दूध
चावल और दही
खजूर और दूध
चावल और नारियल की गिरी
केले और इलायची

ज्यादा खा लेने पर पचाने के लिए लें

केला और दो छोटी इलायची
आम और आधा चम्म्च सोंठ का चूर्ण और गुड
जामुन और 3 – 4 चुटकी नमक
सेब और दालचीनी का चूर्ण एक ग्राम
खरबूज और आधा कप चीनी का शरबत।
तरबूज और एक लौंग।
अमरूद और सौंफ।
नींबू और नमक।
बेर और सिरका।
गन्ना और 3 – 4 बेर ।
चावल और आधा चम्म्च अजवाइन पानी से ।
बैगन और सरसो का तेल एक चम्म्च।
मूली और एक चम्म्च काला तिल चबा लें।
बेसन और मूली के पत्ते चबाएं।
खाना और थोड़ी दही खाइये।
मटर और अदरक चबाएं।
इमली या उड़द की दाल या मूंगफली या शकरकंद या जमीकंद और गुड खाइये।
मुंग या चने की दाल और एक चमच्च सिरका पी लीजिये।
मकई और मट्ठा पीजिये।
घी या खीर और काली मिर्च चबाएं।
खुरमानी और ठंडा पानी पीयें।
पूरी कचौड़ी

और गर्म पानी पीजिये।

Keylinetimes.com
हर अनुभव हमारे अन्दर विश्वास भरता है और मजबूत बनाता है,जिससे हम जो नहीं कर सकते वह कार्य भी करने का आत्मविश्वास और हिम्मत प्रदान करता है।

Key line times

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *