केन्द्रीय मंत्री वीके सिंह ने वसुंधरा फ्लाईओवर का उद्घाटन कर जनता को सौंपा

साहिबाबाद। केंद्रीय राज्य मंत्री सड़क परिवहन एवं राजमार्ग वीके सिंह ने बृहस्पतिवार को वसुंधरा कट फ्लाईओवर का उद्घाटन किया। इसके साथ ही फ्लाईओवर को सुबह साढे़ 11 बजे से आम जनता के लिए खोल दिया गया। इसके चालू होने से लिंक रोड पर लोगों को जाम से निजात मिली।
जीडीए ने सेतु निगम से 6 लेन के इस फ्लाईओवर को 49 करोड़ की लागत से बनवाया है। इसकी लंबाई 586 मीटर है। लिंक रोड पर मोहननगर से आनंद विहार की तरफ आगे बढ़ने पर साहिबाबाद गांव के सामने यह फ्लाईओवर बनाया गया है। इसके चालू होने से मोहननगर से साहिबाबाद मंडी तक की रोड सिग्नल फ्री हो गई। पहले वसुंधरा कट पर भारी जाम लगता था, अब इस जाम का सामना नहीं करना होगा, साथ ही लिंक रोड पर मोहननगर से आनंदविहार के बीच के ट्रैफिक को गति मिल जाएगी। वहीं मंडी, साइट फोर और मोहननगर की कॉलोनियों की तरफ से वसुंधरा आने वाले लाखों वाहन चालकों को भी इसका फायदा मिलेगा। विभिन्न दिशा से वसुंधरा की तरफ आने वाले ट्रैफिक को फ्लाईओवर के नीचे से गुजारा जाएगा। दिल्ली से वसुंधरा व सीआईएसएफ रोड के रास्ते नोएडा जाने वाले वाहन चालकों को भी इसका लाभ मिलेगा।

2 अक्तूबर 2016 में जीडीए के तत्कालीन वीसी विजय यादव ने फ्लाईओवर के निर्माण कार्य का शुभारंभ किया था। इसे एक साल के अंदर चालू करने की घोषणा की गई थी। लेकिन इसके निर्माण में कई अड़चनें आई। वृक्षों की कटाई और लाइन शिफ्टिंग में लंबा समय लग गया। इस कारण इसे बनने में लगभग पौने तीन साल लग गए।
फ्लाईओवर को लेकर पुलिस ने बनाया अस्थाई ट्रैफिक प्लान
साहिबाबाद। जीडीए ने वसुंधरा कट फ्लाईओवर को चालू तो कर दिया लेकिन फ्लाईओवर को लेकर कोई ठोस ट्रैफिक प्लान अब तक नहीं बनाया गया है। यातायात पुलिस का कहना है कि अभी फ्लाईओवर के पास निर्माण सामग्री फैली हुई है, जिसे हटाने और वसुंधरा कट स्थित पुलिस बूथ को फ्लाईओवर के नीचे शिफ्ट करने के बाद ठोस ट्रैफिक प्लान बनाया जाएगा। हालांकि अभी अस्थाई ट्रैफिक प्लान बनाकर कुछ निर्णय लिए गए हैं।
गांव के सामने कट होगा बंद : साहिबाबाद गांव के सामने ग्रीन बेल्ट होकर वसुंधरा सेक्टर-4 की तरफ जाने का रास्ता है। ट्रैफिक इंस्पेक्टर परमहंस तिवारी ने बताया कि यह रास्ता बंद कर दिया जाएगा। मोहननगर की तरफ से वसुंधरा आने वाले लोगों को वसुंधरा कट से लेफ्ट टर्न लेना होगा। हालांकि इस रास्ते के बंद होने से हजारों लोगों को लिंक रोड पर आने के लिए लंबा चक्कर काटना होगा।

वसुंधरा कट पर लगेगा डिवाइडर : वसुंधरा कट से साहिबाबाद रेलवे स्टेशन की तरफ जाने वाला ट्रैफिक पुल के नीचे से सीधे पास किया जाएगा। लेकिन मंडी की तरफ से वसुंधरा के अंदर आने वाला ट्रैफिक इस ट्रैफिक से टकरा जाएगा। इसके चलते डिवाइडर लगाकर रोड को दो हिस्सों में विभाजित किया जाएगा।
गांव के लोग सर्विस रोड से लिंक रोड पर आएंगे : साहिबाबाद गांव का एक ही प्रवेश द्वार है जो लिंक रोड की तरफ खुलता है। अब गांव के लोग सीधे लिंक रोड पर नहीं चढ़ पाएंगे, उन्हें सर्विस रोड के माध्यम से लिंक रोड आना होगा। गांव के सामने दुर्घटनाओं को रोकने के लिए यह निर्णय लिया गया है।
भविष्य में बनेगा गोलचक्कर या सिग्नल : टीआई ने बताया कि वसुंधरा कट पर साइट फोर की ओर जाने वाले ट्रैफिक और वसुंधरा आने वाले ट्रैफिक की सहूलियत के लिए गोलचक्कर बनाया जाएगा। गोलचक्कर संभव नहीं हो सका तो सिग्नल लगाई जाएगी। साइट फोर की ओर जाने वाले ट्रैफिक के लिए यूटर्न भी बनाया जा सकता है। यह सब फाइनल ट्रैफिक प्लान में तय किया जाएगा।
एफओबी पर एस्केलेटर लगाने की जरूरत : साहिबाबाद गांव के पार्षद हिमांशु चौधरी का कहना है कि साहिबाबाद स्टैंड स्थित एफओबी पर एस्केलेटर लगाने की मांग जीडीए से की जाएगी ताकि लोग इसका इस्तेमाल करें और दुर्घटना न हो। उनकी यह मांग नहीं मानी गई तो ग्रामीण आंदोलन करेंगे।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published.