ज्योतिषाचार्य, पं नरेश शर्मा

Key line times

सौभाग्य व दुर्भाग्य में समभाव रखना आवश्यक है। व्यक्ति अपने बुद्धि कौशल और पराक्रम से अनेकों

Keylinetimes.com सम्पदाएँ-सफलताएँ प्राप्त करता है, किन्तु कुछ लोगों को अनायास ही उतना कुछ मिल जाता है जो उनकी योग्यता तत्परता से कहीं अधिक होता है। इसी तरह अनेकों के सम्मुख ऐसा दुर्भाग्य होता है जिसमें सही प्रयास करने पर भी असफलता का मुँह देखना पड़ता है।

Key line times

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *