ब्यूरो चीफ दिलशाद अहमद

Key line times

क्राइम रिपोर्टर मोहम्मद उमर कानपुर नगर तपत कढ़ाहा बुझ गया, गुरू शीतल नाम दियो’
कानपुर। तपत कढ़ाहा बुझ गया, गुरू शीतल नाम दियो

Keylinetimes.com

सुबह के दीवान में भाई रकम सिंह ने शबद कीर्तन के द्वारा गुरू अर्जुन देव जी का वृतांत बताया। इसके पश्चात गुरुद्वारा श्री गुरूनानक सत्संग सभा के तत्वाधान में गौशाला गुरुद्वारे के पास राधिका चौराहा नौबस्ता कानपुर में गुरू अर्जुन देव जी की याद व सम्मान में शहीदी दिवस छबील लगा कर मीठा शरबत व चने का प्रसाद वितरण कर मनाया। इस मौके पर बलबीर सिंह ओबराय ने गुरू अर्जुन देव जी के वृतांत पर प्रकाश डालते हुए बताया कि गुरू जी ने सिखों के इतिहास में जुल्म व अन्याय के खिलाफ़ आवाज बुलंद करते हुए तेरा कीया मीठा लागे हरि नाम पदारथ नानक मांगे… शबद पढ़ते हुए पहली शहादत दी। उन्होने बताया कि गुरू अर्जुन देव जी ने समाज के मार्गदर्शन हेतु श्री गुरू ग्रंथ साहिब का संकलन भाई गुरदास जी से कराकर गुरवाणी को समाहित किया। मंजीत सिंह चड्ढा ने बताया कि कलयुग के घोर समय में श्री गुरू ग्रंथ साहिब के चरण लगने से सांसारिक मोह माया से रहित देव मनुष्य की उत्पत्ति होती है। उन्होने बताया कि ‘ कलयुग जहाज अर्जुन गुरू’ , अर्थात कलयुग के समय में श्री गुरु अर्जुन देव जी को याद करने भर से मुक्ति मिल जाती है। बलबीर सिंह मक्कड ने बताया कि स्त्री सत्संग सभा द्वारा पिछले लगभग चालिस दिन से सुखमनी साहिब के पाठ के उपरांत कीर्तन की लड़ी चल रही है। इसमें स्त्री सत्संग सभा की प्रधान कुलवंत कौर तलूजा, जसपाल कौर ओबराय व जगजीत कौर बिंद्रा के सहयोग से स्त्री सत्संग सभा की सभी सदस्यों ने ‘ जपयो जिन अर्जुन देव गुरु फ़िर संकट जोन गरम न आयो’ के शबद के साथ समापन किया। मीठा शरबत वितरण व चने वितरण में मुख्य रूप से बलबीर सिंह ओबराय प्रधान, मंजीत सिंह चड्ढा जनरल सेक्रेटरी , बलबीर सिंह मक्कड सेक्रेटरी, गुरमीत सिंह खजांची, आदि मौजूद रहे।

Key line times

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *