विद्युत विभाग लोनी गाजियाबाद का कारनामा

प्रेस नोट
दिनांक 22/6/2019

बी.के.चौधरी, जिला सचिव युवा कल्याण संगठन की ओर से प्राप्त

Key line times

आपसी रंजिश बता धारा -186 के दोषी व्यक्ति पर कार्यवाही करने से बिजली विभाग ने किया इंकार

www.keylinetimes.com

लोनी (गाजियाबाद)उत्तर प्रदेश योगी सरकार में एक तरफ माननीय मुख्यमंत्री जी अधिकारियों को जनता के बीच जाकर उनकी समस्याओं को निराकरण कराने का आदेश जारी करते नजर आते हैं वहीं दूसरी तरफ बिजली विभाग अधिकारी अपनी कमियों में सुधार न करते हुए माननीय मुख्यमंत्री जी के आदेशों को नकारते हुए योगी सरकार की छवि धुमिल करने में लगे हुए हैं

www.keylinetimes.com

हम आपको बता दें कि उपभोक्ता ने अपना बिजली केबल नजदीकी पॉल पर बदलवाना चाह था जिसको लगाने के लिए विधुत विभाग अधिकारी उपभोक्ता को चार महीने तक गुमराह करते रहे एक अॉडियो क्लिप वायरल होने पर विभाग कर्मचारियों द्वारा मजबूरन उपभोक्ता का कार्य करना पड़ा था

Key line times

अॉडियो क्लिप के आधार पर उपभोक्ता द्वारा कई महीनों से बार बार तहसील दिवस, माननीय विधायक जी, माननीय सांसद जी, अधिशासी अभियंता श्री अनिल कुमार कपिल जी,जिला अधिकारी, विधुत विभाग के प्रबंध निदेशक श्री आशूतोष निरंजन जी, उत्तर प्रदेश पॉवर कारपोरेशन के चेयरमैन श्री आलोक कुमार जी,ओर माननीय प्रधानमंत्री जी को गुहार लगाकार आरोपी व्यक्ति पर धारा 186/504 के तहत कानूनी कार्यवाही अथवा आरोपी व्यक्ति का नाम जानने का प्रयास किया जा रहा हैं
विभाग अधिकारियों द्वारा दिनांक 26/2/19 को प्राप्त आख्या में लिखा गया था कि आपके कार्य को किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा रोका गया है अब 18/6/19 को प्राप्त दूसरी आख्या में अधिशासी अभियंता श्री अनिल कुमार कपिल जी द्वारा दोषी व्यक्ति पर कानूनी कार्रवाई के नाम पर लिखा है कि उपभोक्ता की आपसी रंजिश बताया है।
विभाग अधिकारियों से उपभोक्ता ने यह जानने की इच्छा जाहिर की है उपभोक्ता की किन लोगों से रंजिश है जिनके द्वारा उपभोक्ता का कार्य अधिकारियों को चार महीनों तक रोकना पड़ा था एक तरफ विभाग अधिकारी कार्य रोकने वाले को अज्ञात बता रहे हैं वही दूसरी ओर 18/6/19 की आख्या में उपभोक्ता की आपसी रंजिश बताई जा रही है देखना होगा कि योगी सरकार में सरकारी कार्य में बाधा डालने वाले प्रभावशाली व्यक्ति पर कानूनी कार्यवाही कराने में विभागीय अधिकारी, शासन, प्रशासन,ओर माननीय जी सफल हो पाते हैं या नहीं विभाग अधिकारियों द्वारा झूठी आख्या को लेकर उनकी कार्य शैली पर सवाल उठ रहे हैं उपभोक्ता अपने शिकायती पत्र में बार बार लिख रहे हैं उपभोक्ता के कार्य को जब किसी व्यक्ति द्वारा रोका जा रहा था तो उपभोक्ता से यह जानकारी चार महीनों तक क्यो छिपाई जाती रही हैं ?
इसके साथ साथ उपभोक्ता की आधा दर्जन शिकायतों पर अधिकारियों द्वारा झूठी आख्या बनाने की जरूरत क्यो पड़ती है ?
विभाग अधिकारियों द्वारा उपलब्ध कराई गई शिकायत सं 30102819000350 दूसरी आख्या मिलने पर प्रकरण ने एक नया मोड़ ले लिया है जिससे यह सिद्ध होता है उपभोक्ता की अगर किसी से आपसी रंजिश है तो उपभोक्ता के कार्य को विधुत विभाग अधिकारी नहीं करेंगें ओर कार्य रोके जाने की जानकारी उपभोक्ता को नहीं दी जायेगी

इस प्रकरण में उपभोक्ता को यह जानकारी तो मिली है कार्य उपभोक्ता का कार्य रोकने वाला व्यक्ति प्रभावशाली व्यक्ति दलाल के रूप में है अब देखना होगा प्रभावशाली व्यक्ति पर विभाग अधिकारी, माननीय जी,शासन प्रशासन, पीएमओ कोई कानूनी कार्यवाही करा पायेंगे कि यह प्रकरण भ्रष्टाचार/अपराध की भेंट चढ़ कर रह जायेगा।

सौजन्य से

बी के चौधरी

युवा कल्याण जिला सचिव
मानव अधिकार मिशन
लोनी गाजियाबाद

आर.के.जैन,एडिटर इन चीफ

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय भारत सरकार के अंर्तगत आर.एन.आई.से मान्यता प्राप्त, राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से लगातार तीन वर्षों से राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से प्रकाशित, राष्ट्रीय हिंदी पाक्षिक समाचार पत्र

Key line times

www.keylinetimes.com

Youtube.. keyline times

संस्थापक एंव राष्ट्रीय अध्यक्ष

“उपभोक्ता एंव मानव अधिकार रक्षा समिति”

” युनिटी आफ प्रैस एण्ड मिडिया ऐसोसिएशन”

7011663763,958205525

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published.