सरकारी नौकरी के नाम पर ठगी करने वाले तीन ठगों का अपहरण,आठ लोग गिरफ्तार

रिपोर्ट, नौशाद अली,गाजियाबाद। बीफार्मा छात्र के अपहरण के खुलासे में चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। छात्र और उसके साथी सरकारी नौकरी दिलवाने के नाम पर लोगों से रुपये की ठगी करते थे। छह महीने में आरोपियों ने 56.50 लाख रुपये की ठगी कर ली थी। ठगी के शिकार लोगों ने ही 19 जून को छात्र समेत तीन लोगों का अपहरण कर लिया। अपहरण के बाद एक व्यक्ति को रुपये लाने के लिए छोड़ दिया था। अपहरणकर्ता छात्र को बुलंदशहर और दूसरे व्यक्ति को गाजियाबाद और दिल्ली में घुमाते रहे। छात्र के परिजन से पांच लाख रुपये की फिरौती भी मांगी। पुलिस ने आठ लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। एसपी सिटी श्लोक कुमार ने बताया कि कविनगर थाने में 20 जून को ललित कुमार निवासी कपूरपुर थाना धौलाना ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी कि उसके छोटा भाई निर्दोष राणा जो कि सुंदरदीप कॉलेज से बीफार्मा पास आउट है, अपने घर से कॉलेज के लिए निकला था। कॉलेज में उसे मार्कशीट से संबंधित कोई काम था। दोपहर करीब दो बजे छात्र के नंबर से पड़ोसी परमानंद गुप्ता के मोबाइल पर कॉल जाती है कि निर्दोष का गाजियाबाद गोविंदपुरम के पास एक्सीडेंट हो गया है। परिजन गोविंदपुरम के पास पहुंचे तो उक्त युवक ने निर्दोष के परिजनों को एनडीआरएफ के पास आने को कहा। परिजन वहां पहुंचे तो आरोपी युवक ने निर्दोष के दोस्त मनोज के नंबर से परिजनों के फोन पर कॉल करके पांच लाख रुपये की फिरौती मांगी। पुलिस ने निर्दोष और मनोज की मोबाइल कॉल की सीडीआर निकाली तो पता चला कि दोनों के बीच पिछले दो दिन में 25 बार बात हुई है। पुलिस ने दोनों को ट्रेस किया, लेकिन मोबाइल बंद होने के कारण पता नहीं चल सका। 21 जून की तड़के 3:30 बजे निर्दोष और मनोज को बाबू धाम के पास से बरामद कर लिया। उनके साथ आठ अन्य लोगों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस पूछताछ में अपहरण के पूरे राज से पर्दा उठ गया।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *