डॉक्टर भगवान का दूसरा रुप होता है: राजलक्ष्मी गहलोत

बाप फलोदी डाक्टर परमात्मा का दुसरा रुप होता है। डाक्टरों को अस्पताल मे आने वाले हर मरीज के साथ मानवीय व्यवहार रखते अस्पताल मे आनेवाले हर मरीज का इलाज सेवा भावना से करना चाहिए उक्त विचार बाप ग्रा.वि.स. द्बारा डाक्टर दिवस के अवसर पर आयोजित सम्मान समारोह मे मुख्य अतिथि के रुप मे सम्बोधित करते हुए राजलक्ष्मी गहलोत उप जिलाकलैक्टर बाप ने कहे,तहसीलदार भवानीसिंह ने सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का। सही लाभ जन जन तक पहुँचने की बात कही।

समारोह में डाँ.हरिनारायणयादव,डाँ.पर्वतसिंह,डाँ.जमालचंद,डाँ.गोविंद शर्मा, डाँ.उमेश का माल्यार्पण व साफा पहनाकर स्वागत करते हुए सम्मान किया गया,कार्यक्रम मे भवरलाल सुथार., ओम राठी,माँगीलाल,नन्दकिशोर, करननाथ,रुखमा. राजूसिंह भाग लिया। समिति प्रमुख भीखाराम ने सभी का आभार प्रकट करते हुए धन्यवाद ज्ञापित किया.बाप मे पहलीबार समाजसेवी अखेराज खत्री के सानिध्य मे आयोजित समारोह का मँच सँचालन श्रीकांत ने किया ।

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published.