दुहाई में भाजपा नेता की अवैध कालोनी पर अतिक्रमण हटाता बुलडोजर

जीडीए की ओर से अवैध निर्माण के खिलाफ ध्वस्तीकरण अभियान मंगलवार को बड़ी कार्रवाई की गई। जीडीए उपाध्यक्ष के आदेश पर जीडीए जोन-दो प्रभारी आरके सिंह के नेतृत्व में प्रवर्तन अनुभाग की टीम ने पुलिस बल के साथ अनाधिकृत निर्माणों के खिलाफ बड़े पैमाने पर अभियान चलाया। इसमें दुहाई में ट्राईडेंट कॉलोनी के पीछे भाजपा नेता सुधन रावत की 10 हजार वर्ग मीटर भूमि पर बनी अवैध कॉलोनी को ढहा दिया गया। इस बीच टीम का गांव वालों ने विरोध किया। जीडीए व मुरादनगर थाने की पुलिस फोर्स ने डंडा फटकाकर विरोध करने वालों को खदेड़ दिया

जीडीए की टीम ने तीन अवैध कॉलोनियों में करीब 120 भूखंडों की नींव, 80 बाउंड्रीवॉल, गेट, ऑफिस, बिजली के खंभे और दो भवनों के निर्माणों को ध्वस्त कर दिया। ध्वस्त की गई कॉलोनियां मुरादनगर के दुहाई गांव के निवासी राजेंद्र यादव की 20 हजार वर्ग मीटर, अंशुल चौधरी 20 हजार वर्ग मीटर और भाजपा नेता सुधन रावत की 10 हजार वर्ग मीटर में बनी अवैध कालोनी पर कार्रवाई की गई। जीडीए की ओर से यूपी नगर नियोजन एवं विकास अधिनियम 1973 की धारा 27 के तहत वाद योजित करते हुए विकास कर्ताओं को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था। संतोषजनक जवाब नहीं देने के बाद ध्वस्तीकरण के आदेश देते हुए 15 दिनों के अंदर विकास कार्य को हटाने के आदेश दिए गए थे। विकास कर्ताओं के आदेश को अनदेखा करने पर कार्रवाई की गई है। कार्रवाई में सहायक अभियंता योगेश कुमार पटेल, जीडीए पुलिस प्रभारी जितेंद्र कालरा व मुरादनगर थाने का पुलिस बल मौजूद रहा।

सेंट जेवियर वर्ल्ड स्कूल सील, बच्चों का भविष्य अधर में
जीडीए ने प्राधिकरण से बिना मानचित्र स्वीकृत कराए अनाधिकृत निर्माण करने पर सेंट जेवियर वर्ल्ड स्कूल को मंगलवार को सील कर दिया गया। जीडीए की सीलिंग की कार्रवाई का स्कूल के मालिक और अध्यापकों ने काफी विरोध किया। लेकिन भारी पुलिस बल के साथ पहुंची जीडीए की टीम ने बलपूर्वक सभी को हटाते हुए सीलिंग की कार्रवाई की है। जीडीए की कार्रवाई से स्कूल में पढ़ने वाले 600 से अधिक बच्चों का भविष्य अधर में लटक गया है।

प्राधिकरण ने नक्शा पास नहीं कराने और अनाधिकृत निर्माण को लेकर स्कूल के खिलाफ कार्रवाई की है। दुहाई गांव में भी अनाधिकृत निर्माण के खिलाफ कार्रवाई की गई है। – वीके सिंह, ओएसडी, जीडीए

Share this news:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *